स्वरूपानंद महाविद्यालय में रंगोली प्रतियोगिता एवं परिचर्चा का आयोजन

 

भिलाई ।

असल बात न्यूज़।। 

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के महिला प्रकोष्ठ द्वारा राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर रंगोली प्रतियोगिता एवं परिचर्चा का आयोजन किया गया प्रतियोगिता में बी एड चतुर्थ सेमेस्टर एवं डी एल एड प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों ने भाग लिया सहायक प्राध्यापक श्रीमती उषा साहू ने कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि लड़कियों को उनके अधिकारो और शिक्षा के प्रति संवेदनशील बनाने के साथ-साथ स्वास्थ्य और पोषण के बारे में जागरूकता बढ़ाना है राष्ट्रीय बालिका दिवस लड़कियों और लोगों को कन्या भ्रूण हत्या और लैंगिक असमानता से लेकर यौन शोषण तक के मुद्दों के बारे में जागरूक करने के लिए मनाया जाता है ।

महाविद्यालय के कार्यकारी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने सभी विद्यार्थियों को बालिका दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा समाज में लड़कियों के सामने आने वाली असमानताओ के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए इस तरह के कार्यक्रम कराया जाना चाहिए 

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉक्टर हंसा शुक्ला ने कहा  बालिकाओं के सामने आने वाली असमानता के बारे में जागरूक करना और विभिन्न प्रकार की समस्याओं से अवगत कराना है

  बी  एड चतुर्थ सेमेस्टर की छात्रा रोमिका मानकर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत की गई थी इंदिरा गांधी ने 24 जनवरी 1966 को भारत की  पहली महिला प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी इसलिए भारतीय इतिहास महिला सशक्तिकरण और लैंगिक समानता को बढ़ावा देने के लिए 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में चुना गया था

 बी एड चतुर्थ सेमेस्टर की छात्रा अंजली गुप्ता ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा संयुक्त राष्ट्र ने 11 अक्टूबर के दिन राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने का फैसला लिया और पहली बार 11 अक्टूबर  2012 को मनाया गया इस खास दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य नारी शक्ति को बढ़ावा देना है

 बी एड चतुर्थ सेमेस्टर की छात्रा दीपशिखा शर्मा ने कहा बालिकाओं के जीवन को विकसित करना और लोगों को महिलाओं की चुनौतियों के प्रति जागरूक करना है

 बी एड चतुर्थ सेमेस्टर की छात्रा पल्लवी साहू ने कहा दुनिया के सभी देशों में स्त्री को उसके सम्मान और अधिकार दिलाने के लिए कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं  जिससे महिलाओं को जागरूक किया जा सके इस अवसर पर रंगोली प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिसमें डी एल एड प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के द्वारा आकर्षक रंगोली बनाई गई रंगोली के माध्यम से सभी विद्यार्थियों ने  अपनी सहभागिता दी रंगोली प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका निभाते हुए शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ पूनम निकुम्भ ने अपना निर्णय दिया 

प्रथम स्थान लेख राम साहू 

द्वितीय स्थान लोकेशन

 तृतीय स्थान कामिनी मांडले ने प्राप्त किया सभी विद्यार्थी  डी एल एड  प्रथम वर्ष के हैं  इस अवसर पर शिक्षा विभाग के समस्त प्राध्यापक गण उपस्थित रहे

 कार्यक्रम का संचालन सहायक प्राध्यापक श्रीमती  उषा  साहू ने किया।