पत्रकार वार्ता, सिहावा

 


रायपुर,

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि 2 तिहाई विधानसभा में भेंट-मुलाकात कर चुके हैं। व्यक्ति को आधार मानते हुए हमने विकास का पैमाना तय किया। कुपोषण में काम किया। स्वास्थ्य के क्षेत्र में लगातार हमने काम किया है। लोगों की आय में वृद्धि हो, इसलिए सभी वर्गों के लिए अलग-अलग कार्ययोजना बनाई जिसका लाभ सभी ने लिया है।

पहले 15 लाख किसान धान बेचते थे, अब लगभग 25 लाख किसान हैं। रकबा में भी वृद्धि हुई है। इस साल धान खरीदी पिछले साल की तुलना में अधिक होगी।

धान के उठाव में भी तेजी से कार्य चल रहा है। जिसे फरवरी-मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा।

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना से तहत भूमिहीन परिवारों को भी लाभ दे रहे।

गोधन न्याय योजना में 98 लाख क्विंटल गोबर की खरीदी की है। अब गोबर से प्राकृतिक पेंट बनाने का भी काम चल रहा। फरवरी तक सभी जगह चल रहा। स्कूलों के उन्नयन के लिए भी एक हजार करोड़ की व्यवस्था की है।

हाफ बिजली बिल योजना के तहत 32 सौ करोड़ की राहत दी जा चुकी है। अनुसूचित क्षेत्र में और यहां भी 12 जगह देवगुड़ी बनाने और उनके उन्नयन की घोषणा की है। 

राजीव युवा मितान क्लब के सदस्य ओलिंपिक में भागीदार बने हैं, महिलाओं ने बड़ी संख्या में ओलिंपिक में भाग लिया।

वनाधिकार के तहत हमने पट्टा देने का काम किया है। हमने नगरीय क्षेत्र में भी इसे लागू किया। 

बेलर गांव और खिसोरा में मांग के अनुसार घोषणा की है।

शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए शिक्षकों के प्रशिक्षण की व्यवस्था की जा रही है।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में 50% राशि राज्य सरकार दे रही है। इस वर्ष 700 करोड़ का बजट रखे हैं, 300 करोड़ रिलीज कर दिए हैं।

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना का प्रचार-प्रसार भी करें, जिनका घर पूर्ण हो चुका है।

उन्होंने बताया कि अंग्रेजी माध्यम के 10 शासकीय कॉलेज स्वीकृत किए गए हैं।