कुंवारी लड़की ने दिया बच्चे को जन्म, फिर खुद तीसरी मंजिल से फेंक दिया नीचे

 


दिल्ली के न्यू अशोक विहार इलाके में सोमवार को 20 वर्षीय अविवाहित युवती ने अपने नवजात शिशु को इमारत के शौचालय की खिड़की से बाहर फेंक दिया। पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि अविवाहित युवती ने कलंक से बचने के लिए कथित तौर पर बच्चे को फेंक दिया। युवती ने सोमवार को बच्चे को जन्म दिया। युवती नोएडा स्थित एक निजी कंपनी में काम करती थी। युवती ने जय अम्बे अपार्टमेंट में बच्चे को ऊंचाई से फेंका। स्थानीय लोगों ने बच्चे को अस्पताल पहुंचाया लेकिन डॉक्टरों से उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने दर्ज किया हत्या का केस 
समाचार एजेंसी पीटीआई भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि युवती की पहचान कर उसके खिलाफ भरतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 (हत्या) एवं 201 (अपराध का सबूत मिटाना) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। उसको अस्पताल ले जाया गया है। 

महिला टीचर की बहादुरी से पकड़े दो झपटमार
रूप नगर इलाके में महिला टीचर की बहादुरी से पुलिस ने दो झपटमारों को दबोच लिया। आरोपियों के कब्जे से पीड़िता का फोन और वारदात में प्रयुक्त चोरी की स्कूटी बरामद कर ली गई। दोनों आरोपियों पर लूट और वाहन चोरी के 40 मामले दर्ज हैं। आदर्श नगर निवासी काजोल मदान दरियागंज स्थित प्राइवेट स्कूल में टीचर है। वह शनिवार को कमला नगर गई थी। तभी स्कूटी सवार बदमाशों ने उसके हाथ से मोबाइल छीन लिया और भागने लगे। 

पुलिस ने दर्ज किया केस
महिला टीचर ने स्कूटी सवार युवकों का पीछा किया और एक बदमाश को दबोच लिया जबकि दूसरा भागने में कामयाब रहा। इस बीच रूप नगर थाने में तैनात एसआई गौरव गहलोत गश्त करते हुए मौके पर पहुंचे और झपटमार को अपनी हिरासत में ले लिया। पुलिस ने पीड़िता के बयान पर एफआईआर दर्ज कर लिया। बदमाश आशीष ने अपने दूसरे साथी का नाम इरफान बताया। 

महिला टीचर को किया जाएगा सम्मानित 
एसआई गौरव की टीम ने फरार दूसरे आरोपी इरफान को वजीरपुर इलाके से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने वारदात करने के लिए मोती नगर इलाके से स्कूटी चोरी की थी। इरफान के कब्जे से पीड़िता का मोबाइल भी बरामद कर लिया गया। डीसीपी सागर सिंह कलसी ने महिला टीचर की बहादुरी को देखते हुए सम्मानित करने की भी बात कही है।