अम्बिकापुर 9 जनवरी 2023 स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टीएस सिंहदेव ने सोमवार को मां महामाया एयरपोर्ट के उन्नयन कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने रन-वे सहित अन्य निर्माण कार्यों को तेजी से पूर्ण कर डीजीसीए द्वारा किए जाने वाले प्री एवं पोस्ट लाइसेंसिंग जांच की तैयारी भी जल्द करने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने निर्माणाधीन रन-वे, नाली निर्माण एवं टर्मिनल बिल्डिंग में चल रहे कार्यों का निरीक्षण करते हुए अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने एटीसी टावर स्थापना एवं आवश्यक उपकरणों को शीघ्र मंगाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही अगले चरण में टर्मिनल भवन के उन्नयन कार्य के लिए आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिए। बताया गया कि अभी रन-वे में डामरीकरण का फाइनल लेयर हो गया है इसके बाद बीसी लेयर जनवरी के अंत तक हो जाएगा। एटीसी टावर के लिए उपकरण अगरतला से आने वाला है। रन-वे के दोनों ओर समतलीकरण का कार्य तथा पुलिया निर्माण का कार्य चल रहा है। टर्मिनल भवन का उन्नयन कार्य करीब 1 करोड़ 15 लाख रुपये की लागत से किया जाएगा जिसमें अराइवल, डिपार्चर, सिक्युरिटी एरिया, वीआईपी लाउंज आदि का उन्नयन किया जाएगा। ज्ञातव्य है कि 72 सीटर विमान परिचालन के लिए मां महामाया एयरपोर्ट में उन्नयन कार्य चल रहा है जिसमें रन-वे की लंबाई में वृद्धि तथा सुदृढ़ीकरण का कार्य तेजी से जारी है। इस दौरान सीजीएमएससी के अध्यक्ष व लुण्ड्रा विधायक डॉ प्रीतम राम, कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मधु सिंह, उपाध्यक्ष श्री आदित्येश्वर शरण सिंहदेव, सीईओ जिला पंचायत श्री विश्वदीप, जिला पंचायत सदस्य श्री राकेश गुप्ता, श्रीमती अनिमा केरकेट्टा सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी मौजूद थे।

 


बेमेतरा. राजधानी रायपुर में गांधी उद्यान में 3 दिवसीय पुष्प और सब्जी प्रदर्शनी का आयोजन शनिवार से किया गया है। इस प्रदर्शनी का आयोजन उद्यानिकी विभाग, कृषि विश्वविद्यालय और जिंदल स्टील एवं पावर लिमिटेड के सहयोग से किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी का शुभारंभ प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी द्वारा किया गया। इस अवसर पर विशेष रूप से खाद्य व संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत भी उपस्थित थे। इस प्रदर्शनी में गुलाब, गेंदा, ग्लेडियोलस, सेवन्ती, डहेलिया, जरबेरा, फ्लाक्स, लीली, समेत फूलों की 45 से अधिक किस्मों का प्रदर्शन किया गया है। इस प्रदर्शनी में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के विभिन्न महाविद्यालयों द्वारा लाये गए विभिन्न फल-फूल की किस्में एवं उनके विभिन्न उत्पाद भी शामिल है। इस प्रदर्शनी में अलग-अलग महाविद्यालयों के उत्पाद जैसे राजनांदगांव से मूनगा हर्बल चाय, मूनगा कुकीज, मफीन्स, ब्रेड, टोस्ट, मूनगा पत्ता पाऊडर एवं मशरूम के उत्पाद, बस्तर से काजु, नारियल की केरा बस्तर किस्म, जशपुर के चाय, रायगढ़ के आयल पाम की खेती, महासंमुद की ड्रेगन फ्रुट, रायपुर से कुदंरू, बैंगन, मिर्च, सेम, बरबट्टी एवं प्याज की किस्मों की प्रदर्शनी लगाई गई है। फल-फूल एवं बोनसाई से सजे हुए गांधी उद्यान में प्रथम दिवस में ही प्रकृति प्रेमियों की भीड़ देखने को मिली। जिसमें कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान द्वारा लगाये गये स्टॉल भी विशेष आकर्षण का केन्द्र रहा। प्रदर्शनी में कृषि महाविद्यालय बेमेतरा के अधिष्ठाता डॉ. एम.पी. ठाकुर के मार्गदर्शन में अमरूद के 6 किस्में एवं बेर की 5 किस्मों का प्रदर्शन किया गया है। जो कि अपने स्वाद के कारण लोगों द्वारा पंसद किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी में अमरूद की एयरलेयरिंग वाले पौधे भी लोगों के लिए उपलब्ध कराया गया है।