स्वरूपानंद महाविद्यालय में विश्व हिन्दी दिवस के अवसर पर पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।। 

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई में विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर रेडियो लोक वाणी 8906 एवं हिंदी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में महिला उत्पीड़न  विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए डॉ. सुनीता वर्मा विभागाध्यक्ष हिन्दी ने बताया कि विश्व हिंदी दिवस का प्रारंभ 10 जनवरी 1975 में हुई जब पहली बार महाराष्ट्र के नागपुर में पहला हिंदी सम्मेलन आयोजित किया गया। विश्व के सभी देशों में हिन्दी बोलने व जानने वाले लोग रहते हैं। हिन्दी भावी लोगों को एकजुट करने के उद्देश्य और हिन्दी की उपयोगिता को अवगत कराने के उद्देश्यों से विश्व हिन्दी दिवस मनाते हैं। इस अवसर पर पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिससे महिलाओं के प्रति की जाने वाली हिंसा के प्रति लोग जागरूक हो सकें।

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारिणी अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा व प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने विश्व हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए हिन्दी विभाग को कार्यक्रम आयोजन के लिए बधाई दी।

 उपप्राचार्य डॉ. अजरा हुसैन ने समसामायिक विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता आयोजित करने के लिए बधाई देते हुए कहा हिंदी हर जन की भाषा है इसे बोलने व समझने वाले संपूर्ण विश्व में मिल जाएंगे। अगर हम विश्व हिन्दी दिवस के अवसर पर महिला उत्पीड़न पर जागृति फैला रहे हैं। यह अत्यंत गर्व का विषय है। 


रेडियो लोकवाणी के कार्यक्रम संयोजक चित्रा सिन्हा ने कहा  भारतीय समाज पुरूष प्रधान होने के कारण महिलाओं को अनेक अत्याचार का सामना करना पड़ता है  जिसमें से मुख्य दहेज प्रथा, यौन उत्पीड़न, महिलाओं के साथ लूटपाट, मारपीट, छेड़छाड आदि। महिला उत्पीड़न को लेकर अनेक कानून बनाये गये हैं पर महिला हिंसा से जुड़े मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। शारीरिक चोट पहुंचाना ही हिंसा नहीं है अपितु मौखिक रूप से अपशब्द कहकर मानसिक रूप से परेशान करना भी हिंसा ही है।


इस अवसर पर विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा के इन्द्रधनुषी रंग बिखेरते हुए महिला उत्पीड़न को रेखांकित करते हुए पोस्टर पर उनके दर्द को उकेरा व बताया कि आज महिलाएं माता के गर्भ में भी सुरक्षित नहीं हैं। एक साल के बच्चों से लेकर सत्तर साल की वृद्धा तक के रेप के मामले देखे गये हैं। महिलाओं के प्रति हिंसा व यौन उत्पीड़न के मामलों में वृद्धि हुई है। इन सब चिंताओं को विद्यार्थियों ने अपनी कल्पनाओं के रंगए कागज पर उतारे। इस ड्राइंग प्रतियोगिता में चयनित प्रतिभागियों के नाम इस प्रकार हैं. 

प्रथम वैदेही बीएससी द्वितीय वर्ष, द्वितीय जागृति ठाकुर बीकॉम प्रथम वर्ष, तृतीय नीरज यादव बीबीए पंचम सेमेस्टर व सांत्वना खुशी साहू बीबीए पंचम सेमेस्टर और अद्विती बीएससी द्वितीय वर्ष। मेघा उइके के पोस्टर की विशेष रूप से सराहना हुई। कार्यक्रम में निर्णायक के रूप में डॉ. रजनी मुदलियार विभागाध्यक्ष रसायनशास्त्र सहायकए प्राध्यापक मीना मिश्रा विभागाध्यक्ष गणित उपस्थित हुईं।

कार्यक्रम में महाविद्यालय के विद्यार्थियों व प्राध्यापक शामिल हुए कार्यक्रम को सफल बनाने में सहायक प्राध्यापक हितेश सोनवानी रेडियो लोकवाणी के स्वाती निर्मलकर और कृष्णा साहू ने विशेष योगदान दिया।