छत्तीसगढ़ : राजनांदगांव,प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मुख्यमंत्री स्वालाम्बन योजना की जांच बाहरी एजेंसी से की जाये

 


जिले व प्रदेश के बाहरी लोगों का कब्जा ंवास्तिवक हितग्राहियों के हक के लिए आवाज उठाने पर चेयरमेंन पद से हटाया गया. पार्षद सुनीता फडनवीस

राजनांदगांव। नगर पालिक निगम राजनांदगांव के पूर्व चेयरमेंन व वरिष्ठ कांग्रेसी पार्षद सुनीता अशोक फडनवीस ने प्रधानमंत्री आवास को लेकर लखोली वार्ड कि घटना पर दुख वक्त करते हुए कहा की पूर्व से ही निगम समस्त अवेध कब्जा धारियों पर जाँच कर कार्यवाही करती तो इस तरह की घटना नही घटती मैंने चेयरमेंन का पद ग्रहण करने के पश्चात ही मुख्य मंत्री स्वलम्बन योजना एवं समस्त आवास को लेकर कमेंटी गठित कर वास्विक हितग्राहियो को हक दिलाने के लिए आवाज उठती रही क्योंकि जब हमने पद ग्रहण किया उस समय पूर्व काल के समय अवेध रूप से किये गये घुसपैठियों पर कार्यवाही कर वास्तिवक गरीब हितग्राहियों को उनका हक देकर निगम के चक्कर लगा रहे लोगों को परेशानी से बचाने के लिए मैनें भरसक प्रयास किया किन्तु निगम ने अपने लपाहरवाही कर कोई कार्यवाही नही की।श्रीमती फडनवीस का कहना है कि सही समय पर उचित जांच होती तो मुख्य मंत्री स्वालम्बन योजना व समस्त आवास योजना के अवेध रूप से घुसाये गये लोगो के नाम उजागर होते जहाँ लेन-देन के मामले भी सामने आते साथ ही शहर, जिले एवं प्रदेश के लोग अवेध रूप से कब्जा करके रह रहे है उनके भी नाम सामने आते कई बार मेरे द्वारा पत्र व्यवहार किया गया समानसभा के बैठको में भी जनहित के मुद्दे को व प्रदेश के मुखिया की भावना के तहत प्रमुखता से अपनी आवाज बुंलदी से उठाती रही इस ओर निगम ने कोई पहल नही किया उल्टा मुझे अपनी ईमानदारी का ईनाम स्वरूप बाजार विभाग के चेयरमेंन पद से हटाया गया पार्षद का कहना है कि अभी भी समय रहते निगम उचित जाँच करें ताकि भविष्य में सरकारी योजनाओं का लाभ वास्तिवक गरीब हितग्राहियों को मिले व लखोली जैसे घटना की पुरावृत्ति ना हो सके।