पाकिस्तानियों पर आतंकी रोज मचा रहे कहर, बिलावल भारत पर उठा रहा अंगुली

 


 नई दिल्ली. पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो ने शुक्रवार को यूएन में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करके सारी मर्यादायें लांघ ली। बिलावल ने कहा था कि पाकिस्तान में ओसामा बिन लादेन मारा जा चुका है लेकिन, गुजरात का कसाई अभी भी जिंदा है। बिलावल के बयान पर देशभर में हंगामा मचा है। आज भाजपा देशभर के कई हिस्सों में प्रदर्शन कर रही है। इससे पहले पाक दूतावास के बाहर भी उग्र प्रदर्शन किया गया था। अब सवाल यह है कि भारत पर अंगुली उठाने वाला पाकिस्तान खुद आतंक की मार झेल रहा है। दहशतगर्द रोजाना कहर बरपा रहे हैं। हाल ही में तहरीक-ए-तालिबान ने अपने लड़ाकों को देश में कहीं भी हमले करने के आदेश दिये थे। 

दो दिन पहले ही पाकिस्तान की विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी खार ने भारत पर कमेंट किया था। कहा कि "किसी भी देश ने भारत से बेहतर आतंकवाद का इस्तेमाल नहीं किया" इसके बाद जयशंकर ने लताड़ लगाई। विदेश मंत्री जयशंकर ने जब पाक पत्रकार को आतंकवाद पर अपने मंत्री से सवाल पूछने की नसीहत दी तो पाक भी फिर भड़क गया। बिलावल भुट्टो ने पीएम मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। 

दरअसल, पाकिस्तान हमेशा से ही आतंकवाद का केंद्र रहा है, एक आतंकी पनाहगाह रहा है। यह पहली बार नहीं है। वर्षों से आतंकवाद को पाल रहा पाकिस्तान अब धीरे-धीरे इसका खामियाजा भुगत रहा है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से लेकर दुनियाभर के देश पाकिस्तान को दोगला देश कह चुके हैं।

धोखा और फरेब से चलती है हुकूमत
 ट्रंप ने कहा था कि पाकिस्तान एक झूठा देश है जिसने अमेरिका से 33 अरब डॉलर से ज्यादा लिए लेकिन बदले में सिर्फ झूठ और फरेब दिया। उसने अमेरिकी नेताओं को मूर्ख के रूप में देखा, अफगानिस्तान में सक्रिय आतंकवादियों पर नकेल कसने में मदद के नाम पर उनसे पैसे लिए और फिर उन्हीं आतंकवादियों को घर वापस भेजकर उन्हें धोखा दिया।

पाकिस्तान तालिबान सबसे बड़ी चिंता
पाकिस्तान दुनियाभर के सामने ढोल पीट रहा है कि वह अपने देश से आतंकवाद को हटा चुका है, उसकी काली हकीकत यह है कि हाल ही में पाकिस्तानी तालिबान का बयान। हाल ही में तहरीक-ए-तालिबान (टीटीपी) ने पाक सरकार से सीजफायर खत्म करने की घोषणा की और अपने लड़ाकों को देश में कहीं भी हमले करने के आदेश दिये। 

बम धमाकों से दहल रहा पाक
पाकिस्तान करीब रोजाना बम धमाकों से दहल रहा है। भारत को नसीहत देने वाला पाकिस्तान अपने लोगों को आतंकवादियों से बचाने में विफल रहा है। 30 नवंबर को पाकिस्तान के क्वेटा शहर में आत्मघाती आतंकवादी हमला हुआ था। जिसमें 3 लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले की जिम्मेदारी टीटीपी ने ली थी। इससे पहले सितंबर माह में बलूचिस्तान प्रान्त में एक बाजार में एक दुकान में बम धमाका हुआ जिससे कम से कम 20 लोग घायल हो गए। इससे पहले भी पाक में आतंकी हमलों की दास्तां किसी से छिपी नहीं है।