भारत में अभी तक कुछ लोगों का नहीं हुआ पूर्ण टीकाकरण...

 


कई देश कोविड से बचाव के लिए एहतियाती तीसरी और चौथी खुराक दे रहे हैं, लेकिन भारत में अभी इसकी जरूरत नहीं हैं। यहां अभी तक कुछ लोग पूर्ण टीकाकरण यानी दोनों खुराक नहीं ले सके हैं। दुख की बात यह है कि कुछ लोगों ने तो एक भी खुराक नहीं ली है।

चीन में कोरोना की लहर के बाद भारत में प्रकोप की चिंता जताई जा रही है। ऐसे में विशेषज्ञ भारत सरकार से दूसरी एहतियाती खुराक में मिश्रित टीके को अनुमति दिए जाने की उम्मीद जता रहे हैं। विशेषज्ञ ने कहा कि कोविड से सुरक्षा के लिए चौथी एहतियाती खुराक अनुचित है क्योंकि देश में अधिकांश लोगों को अभी तक तीसरी खुराक नहीं मिली है।

पूर्ण टीकाकरण की उपयोगिता पर कोई डेटा उपलब्ध नहीं है। इसके अलावा, भारत में ऐसे लोगों की भी काफी तादाद है, जिन्होंने टीका लगवाया और उसके बाद भी संक्रमण के शिकार हुए। ऐसे मामले बिल्कुल अलग हैं।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च , पुणे सत्यजीत रथ कहते हैं कि भारत में चीन जैसी स्थिति आने के आसार नहीं हैं। चीन में हालात अब बिगड़े हैं जिसने करीब तीन साल से जीरो कोविड पॉलिसी को अपनाया। टीकाकरण के बाद भारत में स्थिति अलग है। रथ ने कहा कि कोविड वायरस पूरी दुनिया में तेजी से फैलता है, सिर्फ चीन ही नहीं नया वेरिएंट कहीं भी पहुंच सकता है।

भारत में करीब एक साल पहले ओमीक्राने वेरिएंट ने तबाही मचाई थी। आईआईएसईआर, पुणे की फेलो इम्युनोलॉजिस्ट विनीता बाल कहती है कि अगर पूर्व के संक्रमण का असर भारत में तब नहीं हुआ था, तो आगे भी इससे सुरक्षा मिलेगी। अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश अपने नागरिकों को तीसरी और चौथी एहतियाती खुराक दे रहे हैं, ताकि वे वायरस से लड़ सकें।

सीरम दो करोड़ खुराक केंद्र को मुफ्त देगा द सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) कोविशील्ड टीके की दो करोड़ खुराक केंद्र सरकार को मुफ्त में मुहैया कराएगा। एसआईआई ने बुधवार को इस बाबत स्वास्थ्य मंत्रालय को एक पत्र लिखा है जिसमें 410 करोड़ रुपये की खुराक मुफ्त देने की बात कही है।

चेन्नई में विदेश से लौटे दो और संक्रमित मिले दुबई और कंबोडिया से लौटे दो और यात्री बुधवार को चेन्नई हवाईअड्डे पर कोविड-19 से संक्रमित पाए गए। तमिलनाडु में अब तक वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या चार हो गई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सुब्रमण्यम ने पुष्टि की कि दोनों यात्री वायरस से पॉजिटिव पाए गए हैं।