बिहार: जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की संख्या बढ़ी…

 


छपरा: बिहार में कहने को तो पूर्ण शराबबंदी लागू है, लेकिन छपरा में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों ने राज्य सरकार के इस दावे की पोल खोलकर रख दी है. उसके मुताबिक जिले में जहरीली शराब पीने से अब तक 54 लोगों की मौत की सूचना है. हालांकि, ​छपरा जिला प्रशासन ​ने सिर्फ 30 मौतों की पुष्टि की है.

घटना मशरक थाना क्षेत्र व इसुआपुर थाना क्षेत्र की है. मशरक थाना क्षेत्र से मशरक तख्त, यदू मोड़, पचखंडा, बहरौली बेनछपरा घोघियां, गंगौली, गोपालवाड़ी, हनुमानगंज तथा इसुआपुर थाना क्षेत्र के डोइला और महुली के साथ अमनौर और मढौरा में लोगों की जहरीली शराब पीने से मौतें हुई हैं. कई लोगों की आंखों की रोशनी भी चली गई हैं, जो अस्पतालों में इलाजरत हैं.

सारण में जहरीली शराबकांड में दर्जनों मौतों के बाद उत्पाद विभाग की नींद टूटी है. मशरख थाने से चोरी की गई स्प्रिट से शराब बनाने का मामला सामने आने के बाद उत्पाद विभाग की टीम इसकी जांच करने की बात कही है. साथ ही उत्पाद विभाग ने कहा है कि बिहार के सभी थानों में जब्त शराब की जांच की जाएगी और सैंपल को लैब भेजा जाएगा.

थानों में रखी गयी जब्त शराब को मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में नष्ट किया जाएगा. विभाग ने निर्देश देते हुए अपने अधिकारियों से जल्द से जल्द इस मामले में जांच कर रिपोर्ट सौंपने की बात कही है. ऐसे में अब उम्मीद है कि जहरीली शराबकांड मामले में कई अन्य बड़े खुलासे भी हो सकते हैं.