वेट लॉस में बेहद फायदेमंद है इमली की पत्तियों की चाय, ये हैं गजब के फायदे

 


 मुंह का स्वाद बेहतर करना हो या फिर भोजन के साथ परोसनी हो खट्टी-मीठी चटनी, इमली का इस्तेमाल कई घरों में किया जाता है। गुणों से भरपूर इमली स्वाद में ही नहीं बल्कि सेहत के लिए भी कई तरह से फायदेमंद होती है। लेकिन आज बात इमली की नहीं बल्कि उसकी पत्तियों से बनने वाली चाय की करेंगे। इमली की पत्तियों में एंटी-बैक्टीरियल, एंटीमलेरियल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी अस्थेमेटिक गुण पाए जाते हैं। यह आपके लिवर और पेट को साफ रखने के साथ आपकी वेट लॉस जर्नी में भी मदद कर सकते हैं। इमली की पत्तियों का सेवन आप चाय के रूप में कर सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे बनाई जाती है इमली के पत्तों की चाय और इसे पीने से मिलते हैं व्यक्ति को क्या-क्या फायदे। 

इमली की पत्तियों की चाय बनाने के लिए आवश्यक सामग्री-
-पानी - 2 कप
-इमली की पत्तियां - 1 मुट्ठीभर
-अदरक - 1/2 इंच (घिसा हुआ)
-हल्दी - 2 चुटकी 
-शहद - 2 टी स्पून 
-पुदीने की पत्तियां - 3-4 

इमली की पत्तियों की चाय बनाने की विधि- 
इमली की पत्तियों की चाय बनाने के लिए सबसे पहले इमली की पत्तियों को  अच्छे से साफ करके अदरक, हल्दी और पुदीने की पत्तियां डालकर 1 पैन में 2 कप पानी डालकर अच्छे से उबलने दें। इसके बाद जब पानी अच्छे से उबल जाए, तो इसे एक कप में छानकर निकाल लें। अब इसमें स्वादनुसार शहद डालकर पिएं। 

इमली की पत्तियों की चाय पीने के फायदे-
वेट लॉस-

इमली की पत्तियों के अर्क में एंटी-ओबेसिटी गुण पाया जाता है, जो वजन को कम करने में असरदार माना जाता है। इस चाय में मेटाबॉलिक सिंड्रोम दूर करने की क्षमता होती है। साथ ही इसके सेवन से आपको भूख भी कम लगती है। इससे आपके शरीर का वजन कम होता है।

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद-
इमली के अर्क में एंटी-डायबिटिक गुण पाया जाता है, जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में आपकी मदद कर सकता है। इमली की पत्तियों में पॉलीफेनोल और फ्लेवोनोइड पाए जाते हैं। यह शरीर में ब्लड शुगर को कंट्रोल रखने में असरदार हो सकते हैं। 

इम्यूनिटी बूस्ट करे-
इमली की पत्तियों में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी गतिविधियां पाई जाती हैं, जो शरीर को बीमारियों से लड़ने के लिए तैयार करती है। इमली की पत्तियों में मौजूद विटामिन सी आपकी इम्यून पावर को बूस्ट करने में भी प्रभावी हो सकता है।