कला अकादमी का दो दिवसीय नृत्यांजलि महोत्सव 28 से

 


रायपुर. छत्तीसगढ़ संस्कृति परिषद संस्कृति विभाग कला अकादमी की ओर से भारतीय शास्त्रीय नृत्य शैलियों पर आधारित एक महत्वपूर्ण आयोजन नृत्यांजलि महोत्सव 28 व 29 दिसंबर को राजधानी रायपुर में होने जा रहा है। मुक्ताकाशी मंच पर दोनों दिन शाम 6:30 से होने वाले इस आयोजन में उपस्थित दर्शकगण भारतीय शास्त्रीय नृत्यों की विविध शैलियों से परिचित होंगे।

कला अकादमी के अध्यक्ष योगेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि दोनों दिन छत्तीसगढ़ और देश के अलग-अलग हिस्सों के प्रमुख कलाकार अपनी प्रस्तुतियां देंगे। जिनमें पहले दिन 28 दिसंबर बुधवार को बिलासपुर की ज्योति वैष्णव का कत्थक, भोपाल की आरोही मुंशी का भरतनाट्यम और इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ की सामूहिक प्रस्तुति ओडिसी नृत्य की होगी जिसका निर्देशन सुशांत कुमार दास ने किया है। इसके बाद अगले दिन 29 दिसंबर गुरुवार को कमला देवी संगीत महाविद्यालय रायपुर की सामूहिक कथक की प्रस्तुति होगी जिसका निर्देशन डॉक्टर आरती सिंह ने किया है। वहीं नई दिल्ली की आयना मुखर्जी कुचिपुड़ी नृत्य प्रस्तुत करेंगी और नृत्यति कला क्षेत्रम की भरतनाट्यम की प्रस्तुति जी रतीश बाबू एवं साथी करेंगे।