छत्तीसगढ़ के लिए राहतभरी खबर: कोरोना संक्रमण की थमी रफ्तार

 

*कई जिलों में जांच में नहीं मिल रहे नए संक्रमित मरीज

रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्य सरकार के द्वारा किए गए प्रयासों  का ही परिणाम है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगभग थम सी गई है। यह सरकार और प्रदेशवासियों के लिए राहतभरी खबर है। राज्य में कोरोना जांच की 18 नवम्बर की रिपोर्ट के अनुसार मात्र दो जिले बालोद में एक और दुर्ग जिले में 6 व्यक्ति नये कोरोना संक्रमित मिले, जबकि शेष जिलों में कोरोना संक्रमितों की संख्या निरंक है। राज्य में कोविड-19 के सक्रिय मामले भी तेजी से घट रहे है। 

कोरोना की दूसरी और तीसरी लहर में राजधानी रायपुर सहित, रायगढ़, बिलासपुर, जांजगीर-चांपा जिले में स्थिति भयावह हो गई थी, लेकिन राज्य सरकार ने संक्रमण को रोकने के लिए जिस तरह से कदम उठाए, उसमें सफलता मिली है।राज्य सरकार ने जरूरत पड़ने पर लॉकडाउन लगाए।साथ में कोरोना गइडलाइन का सख्ती से पालन कराया और लोगों को गाइडलाइन का पालन करने के लिए जागरूक भी किया।राज्य सरकार ने दूसरी तरफ प्रतिदिन होने वाले जांच की संख्या बढाकर पॉजिटिव लोगों को आइसोलेट कर उनका इलाज कराया। इसके साथ ही राज्य सरकार ने नए पॉजिटिव केस को रोकने के लिए टीकाकरण अभियान को भी पूरी प्राथमिकता के साथ चलाया, जिसकी वजह से नए पॉजिटव मरीजों की संख्या में लगातार कमी आई। अब ताजा हालात की बात करें तो स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 18 नवंबर को जारी रिपोर्ट के अनुसार कोरोना के नये मरीजों की संख्या में भारी गिरावट आई है। राज्य के मात्र दो जिलों बालोद में एक और दुर्ग जिले में 6 नये पॉजीटिव मरीज मिले हैं। शेष जिलों में कोई भी नया केस कोविड-19 टेस्ट में नहीं मिला हैै। 

राज्य के राजनांदगांव, बेमेतरा, गरियाबंद, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही, रायगढ़, मुंगेली, जांजगीर-चांपा, सरगुजा, जशपुर, कोरिया, बलरामपुर, सूरजपुर, बस्तर, कांकेर, बीजापुर, सुकमा, नारायणपुर एवं कोण्डागांव में कोरोना के सक्रिय मरीज नहीं है। कोरोना मरीजों के स्वस्थ्य होने और नये मामलों के कम होने से कोविड-19 के सक्रिय मामले तेजी से घट रहे हैं।