चिरायु ने लौटाई नन्हें बालक शिवांश की मुस्कान

 


 जशपुरनगर .  स्वास्थ्य विभाग के तहत संचालित चिरायु योजना दूरस्थ अंचल के बच्चों के लिए संजीवनी का काम कर रही है ।  बच्चों के गंभीर बीमारी को चिन्हांकित करके उनके लिए इलाज की व्यस्था करती है छत्तीसगढ़ शासन द्वारा बच्चे के ईलाज के लिए बड़े से बड़े अस्पताल में भेजा जाता हैंद्य और  प्रशासन पूरा खर्च वहन करता  है। ऐसा ही एक बालक शिवांश है जिसे चिरायु योजना का लाभ मिला है।
जशपुर के विकासखण्ड बगीचा अंतर्गत ग्राम छिछली निवासी तरूण यादव (शिवांश), उम्र 02 वर्ष 08 माह पिता स्व. उज्जवल यादव के दिल के छेद का सफल ऑपरेशन चिरायु योजना के तहत एसएमसी हॉस्पिटल रायपुर में किया गया है। तरूण यादव के सफल ऑपरेशन से उनके एवं उनके परिजनों के चेहरे पर मुस्कान लौटी है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की चिरायु टीम को जब पता चला कि नन्हा बालक  तरूण को दिल की बीमारी से ग्रसित है और उसके दिल में छेद है तो सबसे पहले बच्चे का स्वास्थ्य चेक कराया गया और चिरायु दल ने बच्चे का पोर्टल में एंट्री की गई और  सफल ऑपरेशन रायपुर के एसएमसी अस्पताल में कराया गया।
 आज बच्चे की मां श्रीमती प्रतिमा यादव अपने बेटे को हंसते खिलखिलाते देखकर खुश होती और उनकी आंखें भर आती है। वे कहती हैं की मुख्यमंत्री जी ने हमारे बच्चे का सफल ऑपरेशन करवाकर बहुत बड़ा उपकार किया इसके  लिए उन्हें दिल से  धन्यवाद देती हूं कि उन्होंने मेरे जिगर के टुकड़े की जान बचा ली। उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग के अन्तर्गत जिले में 15 चिरायु टीम काम कर रही है। प्रत्येक टीम अपने अपने विकास के आंगनबाड़ी और शासकीय स्कूलों का निरीक्षण दो बार करती गंभीर बीमारी से ग्रसीत बच्चों का चिन्हांकन करके उनके इलाज की सुविधा उपलब्ध कराती है गंभीर बीमारी के साथ ऐसे बच्चे जो सुन नहीं सकते मानसिक बीमारी से ग्रसीत या अन्य प्रकार के बीमारियों का चिन्हांकन किया जाता है।