गांठदार त्वचा रोग नियंत्रण हेतु गठित सदस्यी टीम ने किया बेमेतरा क्षेत्र का भ्रमण

 


   बेमेतरा .  अतिरिक्त संचालक पशु चिकित्सा सेवायें रायपुर डॉ. के.के. ध्रुव एवं संचालनालय पशु चिकित्सा सेवायें रायपुर द्वारा कल गांठदार त्वचा रोग नियंत्रण हेतु गठित तीन सदस्यी दो टीम जिनके सदस्य डॉ. समीर शर्मा, डॉ. संजीव राय, डॉ. रागिनी हजारी, डॉ. वर्षा शर्मा, डॉ. भीखम साहू, डॉ. रानू शारदा द्वारा बेमेतरा जिले के ग्राम करही, जेवरा, अमोरा, वीजाभाट, पीपरभट्टा, पिकरी, बेमेतरा वार्ड नं. 1.2.3 एवं बिलई क्षेत्र का भ्रमण किया गया एवं एल एस डी रोग सर्वेक्षण एवं सैम्पल एकत्रित कर पशु पालकों से रोग के संबंध में जानकारी ली गयी एवं टीकाकरण डिटेकिंग नीम के पत्ते का धुंआ करने, पशु गृह में साफ-सफाई एवं बीमार पशुओं को स्वस्थ पशुओं से अलग रखने की सलाह दी गयी। भ्रमण के दौरान ग्राम वीजाभाट में 03. ग्राम अमोरा में 03 ग्राम पीपरभट्टा में 07, बेमेतरा वार्ड नं. 01 में 10, वार्ड नं. 02 में 15 एवं ग्राम बिलई में 03 पशुओं में LSD जैसे लक्षण मिले। रोगी पशुओं को पृथक रखने की सलाह देते हुए चिकित्सकीय टीम को तत्काल उपचार हेतु निर्देशित किया गया ।भ्रमण पश्चात् अतिरिक्त संचालक द्वारा कार्यालय उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवायें बेमेतरा में एल एस डी संबंधी समीक्षा बैठक ली गयी। जिसमें पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ एवं सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारियों को एल एस डी रोग नियंत्रण हेतु संचालनालय एवं भारत सरकार की गाइड लाईन के अनुसार सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए गए। उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवायें बेमेतरा द्वारा जानकारी दी गयी कि आज दिनाँक को 6387 एल एस डी हेतु गोटपॉक्स टीकाकरण किया गया है। इस प्रकार बेमेतरा जिले में अब तक 65991 टीकाकरण किया जा चुका है। एल एस डी के नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु विभागीय समस्त अमले को सतर्कता बरतने एवं सतत निगरानी हेतु निर्देश जारी किये गये हैं ।