तकिया पारा दुर्ग से फिर प्रतिबंधित नशीली दवा कैप्सूल बेचने वाले आरोपी पकड़े गए, आरोपियों में एक महिला भी पकड़ाई

 

दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।। 

दुर्ग शहर में ड्रग्स और प्रतिबंधित नशीली दवा बेचने वाले तस्करो की सक्रियता लगातार बढ़ती जा रही है। यह नशीली दवाएं, बेचने वाले तस्कर तो बार-बार पकड़े जा रहे हैं लेकिन इसे खपाने आने वाले गुर्गे पकड़ में आने से बाहर हैं। प्रतिबंधित नशीली दवाइयां कहां से आ रही हैं ड्रग्स कहां से लाकर खपाया जा रहा है, पुलिस इसकी तह तक पहुंचने से अभी दूर है। स्थानीया पुलिस ने तकिया पारा दुर्ग से आज दो आरोपियों को प्रतिबंधित नशीली दवाइयों के साथ पकड़ने में सफलता प्राप्त की है। 

खबर है कि दुर्ग और भिलाई में नशीली दवा खपाने वालों का बड़ा गिरोह काम कर रहा है। इस गिरोह के लोग युवाओं जिनमें लड़कियां भी शामिल हैं को ड्रग्स का आदी बना रहे हैं और अपना स्थाई ग्राहक बनाकर उन्हें नियमित रूप से नशीली चीजों की आपूर्ति कर रहे हैं। इस तरह से ऐसे तत्व इस अवैध कृतय से  काफी पैसा कमा रहे हैं। दुर्ग शहर में तकिया पारा और केलाबाड़ी से ड्रग्स और नशीली चीजों की आपूर्ति करने वाले लगातार पकड़े जा रहे हैं।

पुलिस ने तकिया पारा अशरफ नगर वार्ड क्रमांक 6 से प्रतिबंधित नशीली दवाइयां बेचने के मामले में 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके नाम रफीक अली और नसीम बानो बताए गए हैं।इन आरोपियों के पास से बड़े पैमाने पर नशीली दवाइयां बरामद की गई हैं। बताया था इनके पास से लगभग ₹9300 कीमत की प्रतिबंधित 30 ड्रामाडोल पत्ती में 746 कैप्सूल बरामद हुए हैं। पुलिस के 12 मामले में आरोपियों के खिलाफ धारा 8,22 ग नारकोटिक्स एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।