रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर, सफर के दौरान रुचि और जरूरत के हिसाब से मिलेगा भोजन

 


रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों को रुचि और जरूरत के हिसाब से भोजन मिलेगा। रेलवे ने आईआरसीटीसी को इसके अनुसार भोजन के मेन्यु में बदलाव के अधिकार दे दिए हैं।

अगर किसी रेल यात्री की रुचि मौसम के अनुसार भोजन करने की है तो उसे उसी के अनुरूप इसे परोसा जाएगा। मेन्यु में क्षेत्रीय और लोकप्रिय व्यंजन अनिवार्य रूप से शामिल होगा। इसके अलावा तीज-त्योहारों के मौके पर विशेष व्यंजन का भी प्रबंध होगा। इतना ही नहीं, सफर के दौरान मधुमेह रोगियों को उनकी जरूरत के हिसाब से विशेष भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। छोटे बच्चों के लिए बेबी फूड की सुविधा होगी।

पहले रेलवे तय करता था मेन्यु :

रेलवे बोर्ड ने 15 नवंबर को सभी जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों को इस बाबत निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके मुताबिक यात्री ट्रेन में भोजन के मेन्यू तय करने का अधिकार आईआरसीटीसी के पास होगा। पहले जोनल रेलवे ट्रेन में परोसे जाने वाले मेन्यु को तय करता था। अब आईआरसीटीसी खानपान सेवा को बेहतर बनाने के लिए ठोस कदम उठाएंगे।

ट्रेन किराये पर असर नहीं :

नए निर्देश के मुताबिक विभाग इस बात का ध्यान रखेगा कि जिन ट्रेन में किराये के साथ खानपान शामिल है, मेन्यु के बदलाव में उसका किराया बढ़ना नहीं चाहिए। जैसे राजधानी-शताब्दी, दुरंतो आदि ट्रेन में खानापान का पैसा किराये में शामिल होता है। इन प्रीमियम ट्रेन में ब्रांडेड भोजन की आपूर्ति यथावत रहेगी, लेकिन ब्रांड और भोजन आपूर्ति कराने का अधिकार आईआरसीअीसी के पास रहेगा। मेल-एक्सप्रेस ट्रेन में बजट में डिब्बाबंद और ऑनलाइन भोजन आपूर्ति का अधिकार विभाग के पास आ गया है। विभाग जनता मील में कोई बदलाव नहीं करेगा।