सरगुजा : बतौली में कलयुगी पिता, मासूम बेटे की ली जान

 


सरगुजा : कलयुगी पिता ने अपने ही डेढ़ वर्ष के मासूम बेटे की हत्या कर दी. आरोपी ने पहले बेटे को फांसी पर लटकाकर मार दिया और फिर शव को नाले के किनारे पत्थर के नीचे छिपा दिया. इस मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

 हत्या के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है. लेकिन बताया जा रहा है कि आरोपी समूह से लिए गए कर्ज में डूबा हुआ था. पत्नी पैसे लेकर दिल्ली चली गई थी. आरोपी ने छोटे बेटे की हत्या के बाद बड़े बेटे को भी मारने और स्वयं आत्महत्या करने की योजना भी बनाई थी लेकिन आधी रात उसका सामना अपने जीजा से हो गया जिसके बाद वह भाग निकला.

 बतौली थाना के ग्राम बांसाझाल निवासी रंजन खलखो ने डेढ़ वर्षीय बेटे आजाद खलखो और बड़े बेटे अनमोल खलखो के सदस्यों के साथ रहता था. गुरुवार को बेलजोरा निवासी विजय लकड़ा पत्नी के साथ ससुराल बांसाझाल आया था. रात को खाना खाने के बाद परिवार के सभी सदस्य सो गए थे. इस दौरान देर रात दो बजे विजय लकड़ा पेशाब करने के लिए घर से निकला था. इस दौरान उसकी नजर अपने साले रंजन खलखो पर पड़ी. बदहवास दौड़ रहे रंजन खलखो को जब विजय लकड़ा ने रोककर कारण पूछना चाहा तो वह भाग निकला. जिसके बाद विजय लकड़ा को संदेह हुआ. संदेह के आधार पर जब सभी ने रंजन खलखो के कमरे में जाकर जांच की तो वहां उसका बड़ा बेटा अनमोल खलखो तो मौजूद था लेकिन छोटा बेटा अनमोल खलखो नहीं था. ऐसे में युवक उसने परिवार के अन्य सदस्यों को जगाकर इस घटना की जानकारी दी और रात में ही दोनों की तलाश शुरू की गई.

सुबह गांव के कोटवार माइकल ने ग्रामीणों को बताया कि '' सेलेम भोड़ा जंगल से सटे हुए नाला गिदुरझूला के किनारे पानी में एक बच्चे का शव पत्थर के नीचे दबा हुआ है. इस घटना की जानकरी मिलने के बाद जब ग्रामीण और परिजन मौके पर पहुंचे तो बच्चे की पहचान आजाद खलखो के रूप में की गई. घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची थी और शव को पीएम के लिए भेजने के साथ ही पुलिस ने जांच शुरू की.

इस सबंध में एसडीओपी सीतापुर ध्रुवेश जायसवाल ने बताया कि "आरोपी मानसिक तनाव से गुजर रहा था. आरोपी ने कर्ज लिया था और उसकी पत्नी भी काम के नाम पर परिवार को छोड़कर दिल्ली चली गई है. आरोपी ने पहले छोटे बेटे की फांसी लगाकर हत्या की और फिर शव को छिपा दिया. वापस लौटते समय उसका सामना जीजा से हो गया जिससे मामला खुल गया. आरोपी ने स्वयं भी आत्महत्या की कोशिश की लेकिन सफल नहीं हुआ. इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.