मेडिकल कालेज के लिए राह हुआ आसान, 41 एकड़ शासकीय भूमि चिन्हांकित

 


  कवर्धा,  कबीरधाम जिले में बरसो पुरानी मेडिकल कॉलेज खुलने और कॉलेज के लिए 41 एकड़ 25 डिसमिल शासकीय भूमि मिलने का राह आसान हो गया है। कवर्धा में मेडिकल कॉलेज के लिए छत्तीसगढ़ बीज निगम ने अपनी 58 एकड़ 23 डिसमिल जमीन से 32 एकड़ 72 डिसमिल जमीन देने के लगभग तैयार हो गया है। इस 32 एकड़ भूमि से लगा हुए दो अलग-अलग पार्ट में 2 एकड़ 4 डिसमिल और 6 एकड़ 49 डिस्मिल घास जमीन की तलाश पूरी हो गई है। इस तरह कुल मेडिकल कॉलेज के लिए 41 एकड़ 25 डिसमिल शासकीय भूमि का चिन्हांकर कर लिया गया है। बीज निगम को छत्तीसगढ़ शासन द्वारा उन्हे अन्य स्थान पर शासकीय भूमि दिया जाएगा। कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे के निर्देश पर कवर्धा राजस्व विभाग बीज निगम को जमीन के बदले अन्य शासकीय भूमि देने लिए शासकीय जमीन खोजने की कार्यवाही शुरू कर दी है। फिलहाल अभी 20 एकड़ जमीन भी खोज लिया गया है।
      उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अपने भेंट-मुलाकात के दौरान कवर्धा विधानसभा क्षेत्र के सहसपुर लोहारा में आयोजित कार्यक्रम में कबीरधाम जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा की है। इसके अलावा मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा जिले में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल 5 और नए स्कूल खोलने, ग्राम कुण्डा में महाविद्यालय, इंदौरी में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उन्नयन करने, सहित अन्य पुल-पुलिया निर्माण और सिचाई परियोजना के लिए घोषणाएं की गई है। इन सभी घोषणाओं के अनुरूप कलेक्टर श्री महोबे के निर्देश पर संबंधित विभाग द्वारा कार्यवाही शुरू कर दी गई है।
      कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने आज समय-सीमा की बैठक में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की घोषणा एवं उनके निर्देशों की कम्पलायंस की समीक्षा की। कलेक्टर श्री महोबे ने कबीरधाम जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने एवं मेडिकल कॉलेज के लिए चाही गई जमीन के संबंध में विस्तृत समीक्षा की एवं अब तक हुई कार्यवाही के बारे में विस्तृत जानकारी ली। कवर्धा राजस्व अधिकारी ने बताया कि कवर्धा शहर के समीप बीज निगम के पास 40 एकड़ जमीन है। बीज निगम जमीन के बदले अन्य शासकीय जमीन लेने के लिए तैयार है। बीज निगम के अधिकारी ने बताया कि राज्य कार्यालय से अंतिम अभिमत के लिए पत्र लिखा जाएगा। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारी को मुख्यमंत्री के घोषणा का उल्लेख करते हुए शीघ्र पत्र भेजने के निर्देश दिए। इधर राजस्व अधिकारी ने बताया कि कवर्धा तहसील के अंतर्गत फिलहाल 20 एकड़ शासकीय जमीन तलाश लिया गया है, शेष जमीन खोजने की तैयारी की जा रही है।
      कलेक्टर श्री महोबे ने बैठक में मुख्यमंत्री श्री बघेल की घोषणा के परिपालन में जिले के चिल्फी, रेंगाखार जंगल, पोड़ी और पिपरिया में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल और ग्राम कोदवागोडान में हिन्दी माध्यम के स्वामी आत्मानंद स्कूल खोलने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में सीएमएचओ डॉ सुजॉय मुखर्जी ने बताया कि ग्राम इंदौरी में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में उन्नय की घोषणा के परिपालन में राज्य शासन को प्रस्ताव जिला प्रशासन द्वारा भेज दिया गया है। कलेक्टर श्री महोबे ने सिचाई परियोजना क्रांति जलाशय के संबंध में जल संसाधन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर ने ग्राम कुण्डा में महाविद्यालय की घोषणा, 50 सीटर से 100 सीटर छात्रावास का उन्नयन सबंधित सभी भेजे गए प्रस्तावों की प्रगति की जानकारी ली।
 जिले के अब आठ गौठानों में होगी गौमूत्र की खरीदी, गौठान चिन्हांकित करने के निर्देश
 कबीरधाम जिले में अब आठ गौठानों में गौमूत्र की खरीदी होगी। कलेक्टर श्री महोबे ने सभी ब्लाकों में दो-दो और गौठान चिन्हांकित करने के निर्देश दिए है। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में जिले के दो गोठान बिरकोना और विरेन्द्रनगर गोमूत्र की खरीदी हो रही है।
कलेक्टर ने दिए बैगा ग्राम सेमसाटा में बोर करने के निर्देश
कलेक्टर श्री महोबे ने बोडला विकासखण्ड के सूदूर एवं दुर्मम पहाड़ियां पर स्थित बैगा बाहूल गांव सेमसाटा में नए हैण्डपंप कराने के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को निर्देश दिए है। वहीं नए हैण्डपंप में नए सोलर पंप लगाने के लिए क्रेडा के अधिकारी को निर्देश दिए है। कलेक्टर ने रेटी टू-ईट वितरण व्यवस्था में सुधार करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने वनांचल क्षेत्रों में मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की समीक्षा की। उन्हांने मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना के तहत वनांचल क्षेत्रों में निरंतर फोकस करने के निर्देश दिए।
 धान के अवैध परिवहनों और शराब की अवैध बिक्री पर निरतंर कार्यवाही करें
     कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने जिले के वनांचल क्षेत्रों और मैदानी क्षेत्रों में शराब की अवैध बिक्री पर लगातार कार्यवाहीं करने के निर्देश दिए है। इस संबंध में जिला आबकारी अधिकारी को कड़े निर्देश भी दिए है। कलेक्टर ने धान खरीदी कार्यां की समीक्षा करते हुए जिले में उपलब्ध बारदाना की जानकारी ली। कलेक्टर ने जिले में अन्य राज्यों से आने वाले धान के अवैध परिवहनों पर कड़ी निगरानी रखने और निरंतर कार्यवाहीं करने के कड़े निर्देश दिए। यहा बताया गया कि जिले में 12 अंतर्राज्यीय रास्तों में कड़ी मॉनिटरिंग की जा रही है।