पैसा गिरा है उठा लो बोलकर चकमा दिया और डिक्की से 2 लाख 70हजार रुपए ले उड़े

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।  

दुर्ग शहर में बैंक से पैसा निकाल कर घर जा रहे एक व्यक्ति को दिनदहाड़े लूट लिया गया। लुटेरों ने उसका पैसा गिरा है बोलकर उसे चकमा देकर पैसा उठाने में उलझा कर उसकी बाइक में रखी उसकी राशि लेकर उड़ गए। सीसीटीवी फुटेज में यह पूरी घटना कैद हो गई है और पुलिस अपराधियों की तलाश कर रही है। ऐसी संभावना है कि लुटेरे पीड़ित पर काफी पहले से नजर रखे हुए थे तथा उसे बैंक से बड़ी राशि निकालते देखा था जिसके बाद इस घटना को अंजाम दिया गया। यह भी आशंका जाहिर की जा रही है कि लुटेरों में से कोई पीड़ित का परिचित भी हो सकता है।

 यह घटना दुर्ग शहर में निरंकारी फर्नीचर के पास स्थित स्टेट बैंक के पास की है। लुटेरों ने लगभग सुनियोजित तरीके से और बड़ी चालाकी से इस घटना को अंजाम दिया। हमारे पास अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध होती जा रही हैं और हम तथाकथित रूप से आधुनिक बनते जा रहे हैं लेकिन आज भी लूट और चोरी के पुराने तरीके से भी लोग लूट का शिकार बनते जा रहे हैं। दुर्ग शहर में इसी तरह से आज एक व्यक्ति से ₹2लाख 70 हजार रूपए लूट लिया गया। लुटेरों ने उसका पैसा गिरा है उठा लो बोलकर उसे झांसा दिया । पीड़ित का नाम मोहम्मद नसीम पिता मो सलीम उम्र 42 साल साकिन गंज पारा है, जिसने  आज चेक से पैसा निकालकर अपने मोटरसाइकिल के डिक्की मे 2 लाख 70 हजार रुपए रखा था। वही एक अज्ञात व्यक्ति ने पैसा  गिरा है उसे उठाने कहा। जिस पर वह जैसे हीं पैसे उठाने गया। बैंक से निकाले उसके पैसे पैसों को अन्य व्यक्ति  ले कर गायब हो गए।

 घटना करीबन 1:30 बजे निरंकारी फर्नीचर के पास स्थित स्टेट बैंक की है। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है। पीड़ित बैंक से निकलता हुआ दिख रहा है। इसके पीछे ही आरोपी भी बैंक् से निकलता हुआ दिख रहा है जिस पर लूट की घटना को अंजाम देने का शक है। लुटेरों में से एक पीड़ित को आवाज देता हुआ प्रतीत हो रहा है जिसके बाद पीड़ित अपनी बाइक के पास जाकर वापस लौटता है और एक कार के बगल नीचे गिरे पड़े रुपए को उठाता हुआ दिखता है। वह फिर वापस लौटता है तब उसे अपने पैसे गायब मिलते हैं। लुटेरों के दो तीन लोगों के  होने की आशंका है। ऐसा भी हो सकता है कि इनमें से एक ने पीड़ित को भ्रमित किया और दूसरा कोई उसके बाइक से पैसा निकाल ले गया। पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि इस घटना में  कम से कम 4 लोग शामिल हो सकते हैं। 

एक सीसीटीवी फुटेज में एक आरोपी कार के बगल पैसा गिराता हुआ नजर आ रहा है जोकि कार के पास घूम कर आता है वहां पैसा गिरा देता है और  पीड़ित को बताता है कि उसका पैसा गिर गया है। इस झांसे में आकर पीड़ित वह पैसा उठाने लगता है। इसी दौरान लाल शर्ट वाला एक अन्य व्यक्ति आता है और पीड़ित की बाइक की डिक्की खोलता है और पैसे लेकर चला जाता है।ताजा जो हालात हैं और जिस तरह की जानकारियां और सबूत पुलिस के पास है उससे लग रहा है कि इस मामले को भी शीघ्र सुलझा लिया जाएगा। पुलिस ने अभी अभी प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना के एक आरोपी की पहचान कर ली है और उसका नाम मल्लिकार्जुन पीटला बताया जा रहा है।

इस घटना को लेकर लोगों के मन में कई सवाल भी उठ रहे हैं। ऐसे सवाल लोगों के मन में कौंध रहे हैं- 

1, पीड़ित ने चेक से पैसा निकाला। वह जो राशि निकाली गई वह निजी थी अथवा और ....

2. लुटेरों ने, कितनी राशि, कितने रुपए गिरा दिए थे जो पीड़ित को उसे उठाने में अधिक समय लगा..

3 लुटेरों ने जो रुपए गिराए थे वह छोटी-छोटी राशि के थे अथवा बड़ी राशि के नोट थे..

4 लुटेरों ने पीड़ित को अपने सम्मोहन के जाल में कैसे इतनी जल्दी उलझा लिया.. यह सवाल इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इस तरह से आरोपी दूसरे लोगों को भी  अपने जाल में उलझा सकते हैं।

5, लुटेरों का गैंग  उस बैंक के पास कहीं निरंतर तो सक्रिय नहीं रहता है ?





असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............


असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक,सबसे सटीक,सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता