छत्तीसगढ़ ने प्रदेश के 10 पदाधिकारियों को सस्पेंड करने की कार्रवाई

 


भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन छत्तीसगढ़ ने प्रदेश के 10 पदाधिकारियों को सस्पेंड करने की कार्रवाई की है। इस कार्रवाई से पूरे यूथ कांग्रेस में हड़कंप मच गया है। सस्पेंड किए गए पदाधिकारियों में भिलाई से सक्रिय पदाधिकारी आकाश कन्नौजिया का नाम भी शामिल है।

प्रदेश सचिवालय राजीव भवन शंकर नगर रायपुर से प्रभारी महामंत्री (संगठन) हेमंत पाल ने 15 नवंबर को यह आदेश जारी किया है। इस आदेश में लिखा गया है कि प्रदेश अध्यक्ष नीरज पाण्डेय ने सभी पदाधिकारियों संगठन द्वारा दी गई जिम्मेदारियों का निर्वहन करने का निर्देश दिया है। इसके बाद भी प्रदेश में कई ऐसे पदाधिकारी हैं, जिन्होंने इन निर्देशों का पालन न करने का काम किया है।

संगठन ने ऐसे करने वाले 10 लोगों का नाम पूरे प्रदेश से चुना है। इसमें भिलाई से आकाश कनौजिया का नाम शामिल है। इसके अलावा अमनदीप भट्टी, पूनम तिवारी, ऐश्वर्या यदु, राजा यादव, आकाश कुर्रे, हिमांशु अग्रवाल, आकाश अग्रहरी कृतिब्रत मंडल और उमेश शर्मा का नाम शामिल है। इन सभी को एनएसयूआई की सदस्यता व पद की जिम्मेदारी से सस्पेंड किया गया है।

सस्पेंड करने के लिए जारी किया गया आदेश।
सस्पेंड करने के लिए जारी किया गया आदेश।

और भी लोगों पर गिर सकती है गाज
एनएसयूआई के पदाधिकारियों में आपसी खींचतान की लगातार शिकायतें मिल रही थीं। इसे रोकने के लिए प्रदेश अध्यक्ष नीरज पाण्डेय ने ऐसे सभी पदाधिकारियों की सूची बनवाई थी। इसके बाद उनके ऊपर खुद भी नजर रखी। जब उनको लगा कि आरोप काफी हद तक सही हैं, तो उसके बाद इनके ऊपर कार्रवाई की गई है। ऐसा कहा जा रहा है कि कई नाम और भी रडार पर हैं, जिनके ऊपर कार्रवाई की जा सकती है।