नेशनल पैरा स्विमिंग प्रतियोगिता में जिले के दिव्यांगजनों ने 10 मेडल जीतकर जिले और प्रदेश का नाम रोशन किया

 


गौरेला पेंड्रा मरवाही, इस महीने की 13 तारीख को गुवाहाटी असम में आयोजित 22 वीं नेशनल पैरा स्विमिंग प्रतियोगिता में जीपीएम जिले के 6 दिव्यांगजनों ने कुल 10 मेडल जीतकर जिले का और छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है।

इनमें 4 गोल्ड, 3 सिल्वर और 3 ब्राउस मेडल शामिल हैं। इस उपलब्धि पर मरवाही विधायक डॉक्टर के के ध्रुव, राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग की सदस्य श्रीमती अर्चना पोर्ते, कलेक्टर सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी सहित अनेक जनप्रतिनिधियों ने उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी है।

    पैरा स्पोर्टस के सचिव श्री दिनेश सिंह दाऊ ने बताया कि नेशनल पैरा स्विमिंग प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ राज्य को कुल 16  पदक प्राप्त हुवे, जिसमें गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले के पैरा तैराकों ने 10 पदक प्राप्त करके  जिले को गौरवान्वित किया है।खिलाड़ियों के वापस आने पर आज  रेलवे स्टेशन पेंड्रा रोड में गर्मजोशी के साथ उनका भव्य स्वागत किया गया और मिठाई बांटी गई। इस अवसर पर श्रीमती अर्चना पोर्ते सदस्य राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग, श्री जयप्रकाश शिवदासानी अध्यक्ष जिला कबड्डी संघ, श्रीमती सीमा डेविड जिला क्रीड़ा अधिकारी, श्री नीलेश साहू पूर्व उपाध्यक्ष, श्री राम लाल खुराना  कबड्डी एमेच्योर, श्री शंकर कंवर, श्री जितेंद्र राज, श्री महावीर जगत प्रभारी प्राचार्य शासकीय हाई स्कूल सरखोर, श्री बंटी केडिया, श्री  मुकुंद मोंगरे सहित विभिन्न खेल संघों के पदाधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

     गुवाहाटी असम में आयोजित 22 वीं नेशनल पैरा स्विमिंग प्रतियोगिता में जिले के रोहित कुमार गोंड ग्राम पनकोटा ने जूनियर वर्ग में  50 मीटर फ्री स्टाइल में 1 गोल्ड मैडल, 50 मीटर बैक स्ट्रोक में 1 गोल्ड मैडल और 50 मीटर बेस्ट स्ट्रोक मे 1 गोल्ड मेडल  प्राप्त किया। सिनीयर वर्ग में अंजना बाई ग्राम पनकोटा ने 50 मीटर बेस्ट स्ट्रोक में 1 गोल्ड मेडल,100 मीटर बेस्ट स्ट्रोक में 1 ब्राउस मेडल प्राप्त किया। जंतराम  पनिका ग्राम सोनबचरवार ने 50 मीटर बैक स्ट्रोक 1 सिल्वर मेडल, 50 मीटर फ्री स्टाइल 1  ब्राउंस  मेडल प्राप्त किया।  मोहिनी मरावी ग्राम देवरगाव ने 100 मीटर बैक स्ट्रोक में 1 सिल्वर मेडल प्राप्त किया। मालती राठौर ग्राम पंतगवां  ने 50 मीटर बेस्ट स्ट्रोक में 1 सिल्वर मेडल, 50 बैक स्ट्रोक में 1 ब्राउंस मेडल प्राप्त किया। प्रतियोगिता में सोमेश्वर सिंह धुर्वे ने 50 बटर फलाई, 200 मीटर मिडले एवम 50 बेस्ट स्ट्रोक में भाग लिया ।