स्वरुपानंद महाविद्यालय में वनस्पति विज्ञान विभाग का क्षेत्रीय गतिविधि का आयोजन

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।।

स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय के वनस्पति विभाग द्वारा ‘क्षेत्रीय गतिविधि’ के रुप में प्रोग्राम कराया गया जिसमें सभी विद्यार्थियों ने उत्साह के साथ भाग लिया।

इस अवसर पर कार्यक्रम प्रभारी वनस्पति शास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ श्वेता गायकवाड़ ने बताया कि हमारे पारिस्थितिक तंत्र में प्रत्येक पौधे का अपना महत्व है इस कार्यक्रम के माध्यम से उन्होने समझाया कि कोई पौधा चाहे वह हर्ब, झाड़ीनुमा या पेड़ हो, उसका किसी भी प्रकार का औषधिक गुण हो या फिर वह किसी प्रकार से व्यावसायिक रुप से महत्वपूर्ण हो या नहीं हो वह हमारे पारिस्थितिक तंत्र को किसी न किसी प्रकार से संतुलित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारिणी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने कहा कि ऐसी पहल से विद्यार्थियों में धरती पर पाये जाने वाले प्रत्येक जीव के महत्व का प्रसार होगा उन्होंने विद्यार्थियों को इस कार्यक्रम के लिए प्रोत्साहित किया एवं बधाईयां दी।

प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा कि पौधों के औषधिक गुणो के महत्व को जानकर इसका उपयोग सामान्य बीमारियों के उपचार में विकल्प के रुप में अपनाना चाहिए।

उपप्राचार्य डॉ अजरा हुसैन ने भी विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन किया। कार्यक्रम में जंतुविभाग की विभागाध्यक्ष डॉ सुनीता शर्मा एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

इस कार्यक्रम में बीएससी द्वितीय वर्ष के विद्यार्थी सृष्टि, होशिका, अदिति, प्रिया, यशस्वी एवं राहुल ने हर्ब एवं स्रब का संग्रह किया। जेनेरा-केशिया, लेन्टाना, समबेनिया, रोमेक्स एवं क्लिओम आदि का पुष्पित भाग को संग्रह कर उसका हर्बेरियम टेक्सोनानी पद्धति द्वारा फाइल बनाने हेतु एकत्र किया। इन में से ज्यादातर पौधो का न तो औषधिक गुण है और न ही व्यावसायिक गुण महत्वपूर्ण है परंतु ये सभी पादप जगत के वह सदस्य है जो भूमि संरक्षण, मृदा के जल ग्रहण क्षमता को बढ़ाना तथा सूक्ष्मजीवों का आश्रय एवं भोजन का स्त्रोत होते है और इस प्रकार यह सभी पारिस्थितिक तंत्र के नियंत्रण में सहायक है। विद्यार्थी इस कार्यक्रम के माध्यम से यह निश्कर्ष निकालने में सक्षम हुए कि ‘हां प्रत्येक पौधा महत्वपूर्ण है और हम सभी को इनके संक्षरण के प्रति जागरुक एवं प्रयासरत होना चाहिए’ विद्यार्थियों ने इस कार्यक्रम में उत्साहपूर्वक भाग लिया।