थाने में शिकायत करने के बाद भी नहीं हुई रसूखदारों पर कार्यवाही, फंदे पर झूला कारोबारी

 


 रायपुर. प्रियदर्शिनी नगर निवासी 51 वर्षीय किराना कारोबारी हरीश कुमार जुमनानी ने गुरुवार ने शुक्रवार की रात अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बताया जाता है कि मृतक ने करीब 2 करोड़ रुपए कर्ज लिया था और इससे ज्यादा ब्याज दे चुका था इसके बावजूद सूदखोर लगातार उस पर पैसा देने के लिए दबाव डाल रहे थे सूत्रों के मुताबिक सूदखोरों की धमकी और मानसिक तनाव के चलते पुलिस से करीब दो माह पहले हरीश ने उनके खिलाफ शिकायत की थी लेकिन इस शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

शहर के रसूखदार हैं आरोपी

जिन लोगों से मृतक ने कर्ज लिया है वे शहर के बड़े रसूखदार हैं। और बड़े स्तर में ब्याज का धंधा कर रहे हैं बताया जाता है कि मार्केट में आरोपियों ने करोड़ों रुपए बांट रखा है और ब्याज के नाम पर कई गुना राशि वसूलते हैं मृतक के परिवार वालों का कहना है कि जितना कर्ज लिया था उससे ज्यादा लौटा चुके थे कोरोना के चलते उनका कारोबार प्रभावित हो गया था इसके बावजूद वसूली के लिए लगातार धमकाया जा रहा था जान से मारने की धमकी दी जा रही थी दुकान पर आकर गाली गलौज करना धमकी देना फिलहाल पुलिस ने मृतक के मोबाइल के कॉल डिटेल खंगालना शुरू कर दिया हैं।

हरीश की खुदकुशी के मामले में मर्ग कायम किया गया है। मृतक द्वारा कुछ लोगों से कर्ज लेने की बात सामने आई है फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। परिजनों के बयान होने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी।