स्वरूपानंद महाविद्यालय में जस गीत प्रतियोगिता का आयोजन

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।।

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में कला विभाग द्वारा शारदीय नवरात्रि पर्व के अवसर पर अंतर विभागीय जस गीत प्रतियोगिता का आयोजन किया गया ,जिसमें महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने उत्साह पूर्वक भाग लिया l जस गीत वास्तव में यश गीत का अपभ्रंश है जिसमें देवी की स्तुति की जाती है l

कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए संयोजिका डॉ सावित्री शर्मा, प्रोफेसर, शिक्षा विभाग ने बताया कि वर्तमान संदर्भ में भावी पीढ़ी को अपने अंचल की समृद्ध परंपराओं का ज्ञान होना अत्यंत आवश्यक है  lछत्तीसगढ़ के लोक गीतों में जस गीत का विशेष प्रभाव रहा हैl इस प्रतियोगिता के माध्यम से विद्यार्थी जस गीत के स्वरूप उनके सामाजिक प्रभाव एवं प्रासंगिकता को भली-भांति समझ सकेंगेl ऐसे आयोजन लोक जीवन में जागरूकता के साथ-साथ सकारात्मक सोच व उत्साह को बढ़ाते हैंl

 इस प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने जबरदस्त समा बांधा  जस गीत के माध्यम से शक्ति की भक्ति से सराबोर कर दियाl विद्यार्थियों ने वाद्य यंत्रों का बखूबी प्रयोग किया l

 महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, डॉ दीपक शर्मा ने कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए कहा की वर्तमान में छत्तीसगढ़ संस्कृति विरासत के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु सरकार द्वारा जहां डिजिटल लाइब्रेरी के माध्यम से विशेष प्रयास किया जा रहा है ,वही ऐसे आयोजन अत्यंत महत्वपूर्ण हैl जिससे लोकजीवन लाभान्वित होता है एवं संस्कृति का पीढ़ी दर पीढ़ी संप्रेषण होता है l

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ  हंसा शुक्ला ने अपने उदबोधन में कहा कि लोकगीत पूरे लोक समाज की अभिव्यक्ति है lजस गीत विविधता को मूल संस्कृति में पिरोने का महत्वपूर्ण माध्यम भी है lजस गीतों में देवी की सेवा एवं कन्या पूजन का विशेष महत्व हैl गीतों के माध्यम से कन्याओं के महत्व को समझने तथा उनके सशक्तिकरण हेतु अभिव्यक्ति महत्वपूर्ण है l

प्रतियोगिता के परिणाम इस प्रकार रहे-- शिक्षा विभाग के मुकेश्वर देशमुख एवं ग्रुप जिसमें पुष्प लता साहू ,प्रांजल देशमुख, रिंकू सोनवानी एवं मनहरण शामिल थे उन्होंने प्रथम स्थान प्राप्त किया l सरला, दामिनी एवं साथियों ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया l  बीए प्रथम वर्ष की छात्रा गरिमा साहू भी द्वितीय स्थान पर रही lमुकेश एवं समूह ने तृतीय  स्थान प्राप्त किया lसांत्वना पुरस्कार सात्विका एवं ग्रुप ने प्राप्त कियाl इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापिका उपस्थित थी ।