सचिन तेंदुलकर की नजरें लगातार दूसरी खिताबी जीत पर, दिलशान की श्रीलंकाई शे

 


 रायपुर रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज 2022 को इंडिया लीजेंड्स और श्रीलंका लीजेंड्स  के रूप में अपने फाइनलिस्ट मिल गए हैं। दोनों टीमों के बीच बहुप्रतीक्षित फाइनल मुकाबला आज यानी के एक अक्टूबर को रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। इंडिया लीजेंड्स ने पहले सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया लीजेंड्स को हराकर फाइनल के लिए क्वालीफाई किया है, जबकि दूसरे सेमीफाइनल में श्रीलंका लीजेंड्स ने वेस्टइंडीज लीजेंड्स को मात देकर फाइनल का टिकट कटाया है। दोनों टीमें पहले संस्करण के फाइनल में भी आमने-सामने हुई थी, जहां इंडिया लीजेंड्स ने श्रीलंका लीजेंड्स को 14 रन से शिकस्त देकर खिताब अपने नाम किया था। 

इंडिया लीजेंड्स की नजरें लगातार दूसरे खिताब पर

मौजूदा चैंपियन इंडिया लीजेंड्स ने पहले सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया लीजेंड्स को हाई-स्कोरिंग रन चेज में हराया था। इंडिया लीजेंड्स के पास हर मैच में अलग-अलग हीरो रहे हैं। जरूरत पड़ने पर खिलाड़ी मौके का फायदा उठाते रहे हैं। इंडिया लीजेंड्स का सामना श्रीलंका की एक ऐसी टीम से होने जा रही है, जो इस सीजन में अब तक एक भी मैच नहीं हारी है। 

इंडिया लीजेंड्स के बल्लेबाजी विभाग में उनके प्रेरणादायक कप्तान सचिन तेंदुलकर के अलावा नमन ओझा, सुरेश रैना, युवराज सिंह और स्टुअर्ट बिन्नी जैसे मैच विजेता हैं। पठान ब्रदर्स की विस्फोटक 
ऑलराउंडर जोड़ी- यूसुफ और इरफान बल्ले के साथ-साथ गेंद से भी शानदार फॉर्म में हैं, जो विपक्षी गेंदबाजों को मुसीबत में डालेगी। टीम के गेंदबाज भले ही अपने खेले गए मैचों में ज्यादा घातक नहीं दिखे हों, लेकिन उन्होंने हर मौके पर अच्छा प्रदर्शन किया है और विपक्षी बल्लेबाजों को काबू में किया है। 

अभिमन्यु मिथुन, मुनाफ पटेल, स्टुअर्ट बिन्नी और इरफान पठान की तेज गेंदबाजी इकाई ने लगातार विपक्षी टीमों को परेशान किया है। प्रज्ञान ओझा, राजेश पवार और राहुल शर्मा के स्पिन विभाग ने कभी भी विपक्षी बल्लेबाजों को लंबे समय तक क्रीज पर टिकने की अनुमति नहीं दी है। फाइनल में अब वे अपना बेस्ट देना चाहेंगे और अपनी टीम को एक और खिताबी जीत दिलाने में मदद करेंगे। 

LLC: पठान बंधुओं ने मचाई खलबली, क्रिस गेल की तूफानी पारी गई बेकार

फाइनल में मिली हार का बदला लेना चाहेंगे श्रीलंकाई शेर

वहीं, दूसरी तरफ तिलकरत्ने दिलशान की अगुवाई वाली श्रीलंका लीजेंड्स ने इस सीजन में छह में से पांच मैचों में जीत हासिल की है। कप्तान दिलशान ने फ्रंट से टीम को लीड किया है और तीनों विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने अपनी टीम के शानदार प्रदर्शन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए टूर्नामेंट में रन बनाए हैं, विकेट लिए हैं और शानदार कैच भी लपके हैं। 

दिलशान, ऑलराउंडर शेन वॉटसन और ड्वेन स्मिथ के बाद टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले तीसरे खिलाड़ी भी रहे हैं। वह श्रीलंकाई बल्लेबाजी लाइनअप की रीढ़ की हड्डी रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने गेंदबाजी में भी कई साझेदारियों को तोड़ी है। अनुभवी ऑलराउंडर सनथ जयसूर्या ने भी विपक्षी बल्लेबाजों पर अंकुश लगाया है और बाएं हाथ के इस स्पिनर का लक्ष्य अब भारतीय बल्लेबाजों को खामोश रखना होगा। श्रीलंकाई स्पिन विभाग के पास इस सीजन में जीवन मेंडिस, चतुरंगा डी सिल्वा और दिलशान मुनवीरा जैसे मैच विजेता भी हैं। 

नुवान कुलशेखरा, इस सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज है। उन्होंने इसुरु उदाना, असेला गुणरत्ने और ईशान जयरत्ने के साथ मिलकर श्रीलंकाई तेज आक्रमण को नई दिशा दी है। श्रीलंकाई गेंदबाजी लाइनअप निश्चित रूप से भारतीय बल्लेबाजों के लिए एक बड़ा खतरा पैदा कर सकती है।