हैलोवीन भगदड़ में 151 की मौत

 


दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में हैलोवीन के दौरान भीड़ के एक संकरी गली में घुसने के प्रयास से मची भगदड़ में कुचलकर मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 151 हो गई है, जबकि 82 अन्य घायलों का इलाज जारी है. इस घटना पर भारत के विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने शोक व्यक्त किया है. इधर सियोल हैलोवीन भगदड़ में 151 लोगों की मौत का शोक मनाता हुए, नयी दिल्ली में कोरिया के दूतावास के ऊपर दक्षिण कोरियाई राष्ट्रीय ध्वज को आधा झुका दिया गया है.

भारत के विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने हैलोवीन भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिवारवालों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने कहा, भारत इस कठिन समय में दक्षिण कोरिया के साथ एकजुटता के साथ खड़ा है.

हैलोवीन भगदड़ को लेकर जो ताजा अपडेट है, उसके अनुसार मरने वालों की संख्या बढ़कर 151 हो गयी है, जबकि अबतक भी बड़ी संख्या में लोग घायल हैं, जिनका इलाज अस्पताल में कराया जा रहा है.

आपातकालीन कर्मियों और राहगीरों ने राजधानी के इटेवन जिले में शनिवार को मची भगदड़ के बाद सड़कों पर पड़े लोगों को सांस दिलाने की कोशिश की. सियोल के योंगसन अग्निशमन विभाग के प्रमुख चोई सेओंग-बीओम के अनुसार, मृतकों और घायलों में ज्यादातर किशोर और 20 वर्ष के आसपास की आयु के युवा शामिल हैं. उन्होंने कहा कि मृतकों में 19 विदेशी भी हैं, जिनकी राष्ट्रीयता के बारे में तत्काल कोई जानकारी नहीं दी गई है. घायलों में से 19 की हालत नाजुक है, लिहाजा मृतकों की संख्या और बढ़ सकती है. इटेवन में देश के सबसे बड़े आउटडोर ‘हैलोवीन' उत्सव के लिए लगभग 100,000 लोग एकत्रित हुए थे.