मिड टर्म चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प की तैयारी

 


अमेरिकी मिड टर्म चुनाव में भारतीय अमेरिकी समुदाय को जोड़ने के लिए पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प बड़ा दांव खेलने जा रहे हैं। वे जल्द ही हिंदी के नए चुनावी नारे के साथ आ रहे हैं। एक वीडियो कैंपेन में ट्रम्प हिंदी में ‘भारत-अमेरिका सबसे अच्छे दोस्त’ कहते नजर आएंगे। ट्रम्प का यह नारा भारतीय-अमेरिकी समुदाय के बीच लोकप्रिय टीवी चैनलों पर भी दिखाया जाएगा।

शिकागो के व्यवसायी और ट्रम्प की पार्टी के रणनीतिकार शलभ कुमार ने हाल ही में ट्रम्प के फ्लोरिडा स्थित आवास मार-ए-लागो में इसकी रिकॉर्डिंग की है। इससे पहले 2016 में ट्रम्प के दिए हिंदी नारे ‘अबकी बार ट्रम्प सरकार’ के पीछे भी शलभ कुमार ही थे, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी नारे ‘अबकी बार मोदी सरकार’ से प्रेरित था।

पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प अपने रणनीतिकार शलभ कुमार के साथ कैंपेन रिकॉर्ड करते हुए।
पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प अपने रणनीतिकार शलभ कुमार के साथ कैंपेन रिकॉर्ड करते हुए।

शलभ ने दैनिक भास्कर को बताया कि ट्रम्प बिल्कुल भी हिंदी नहीं बोल पाते हैं, लेकिन उन्होंने महज तीन टेक में इस नारे को स्पष्ट रूप से बोल दिया। वो हंसते हुए कहते हैं, वहीं हमारी टीम के लोगों को भारत शब्द का सही उच्चारण लेने में काफी दिक्कतें हुईं और उन्हें 100 से अधिक रिटेक लेने पड़े।

2016 में हिंदी नारा ‘अबकी बार ट्रम्प सरकार’ बोलने में ट्रम्प ने काफी समय लिया था और 12 टेक बाद सही उच्चारण कर पाए थे। इसकी रिकॉर्डिंग ट्रम्प टॉवर में की गई थी। उल्लेखनीय है कि नवंबर में होने वाले मिड टर्म चुनाव ट्रम्प के लिए काफी अहम है। इसके नतीजे अमेरिकी राजनीति में उनका कद तय करेंगे।

मकसद- उन स्विंग इलाकों में समर्थन जुटाना, जहां ट्रम्प 2020 में हारे
शलभ बताते हैं कि मिड टर्म चुनाव को ध्यान में रखकर बनाए गए इस नारे का उद्देश्य रिपब्लिकन के समर्थन में भारतीय अमेरिकी मतदाताओं को जुटाना है। खासकर उन इलाकों को लक्षित करना है, जहां 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रम्प हारे थे। ओहियो, जॉर्जिया, पेंसिल्वेनिया, विस्कॉन्सिन और एरिजोना ऐसे ही इलाके हैं।

दरअसल, भारतीय अमेरिकी स्विंग वाले राज्यों में एक महत्वपूर्ण वोट के रूप में उभरे हैं, यहां हार-जीत एक हजार या कुछ हजार वोटों से तय होती है। यूएस थिंक टैंक कार्नेगी एंडोमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस की 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक चुनिंदा स्विंग राज्यों में, भारतीय अमेरिकी आबादी जीत के अंतर से बड़ी है, जिसने 2016 में हिलेरी क्लिंटन व 2020 में ट्रम्प को नजदीकी लड़ाई में बाहर कर दिया।