दुर्ग : पटवारी रिश्वत लेने के आरोप में सस्पेंड

 


दुर्ग जिले में दो पटवारी रिश्वत लेने के आरोप में सस्पेंड हुए हैं। एक पटवारी को EOW/ACB की टीम ने 6 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर जेल भेजा है। वहीं दूसरी पटवारी का रिश्वत लेने का काला कारनामा कैमरे में कैद हो गया। कलेक्टर ने दोनों पटवारियों को सस्पेंड कर दिया है।

दुर्ग जिले की दुर्ग तहसील में पदस्थ पटवारी इंद्रा मनोचा रिश्वत लेने की शिकायत के चलते कई बार सस्पेंड हो गई हैं। इस बार तो उनकी मांग से पीड़ित होकर शिकायतकर्ता ने उनकी बाकायदा रिश्वत मांगते वीडियो क्लिप ही बना ली। इसके बाद उसने आडियो-वीडियो क्लिप के साथ पटवारी इंद्रा मनोचा के खिलाफ कलेक्टर से शिकायत कर दी।

कलेक्टर पुष्पेद्र मीणा ने तत्काल पटवारी को सस्पेंड कर दुर्ग तहसील कार्यालय में अटैच किया। इसके बाद मामले की जांच एसडीएम मुकेश रावटे को सौंपी गई है। एसडीएम रावटे का कहना है कि आडियो और वीडियो के साथ शिकायत आई है। उसकी सत्यता की जांच की जा रही है।

पटवारी नीलकमल सोनी
पटवारी नीलकमल सोनी

रिश्वत लेते रंगे हाथ पटवारी गिरफ्तार
इधर एसीबी की टीम ने 8 सिंतबर की शाम जामुल पटवारी नीलकमल सोनी को रंगे हाथ 6 हजार रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। नीलकमल शिकायतकर्ता से जमीन नामांतरण व ऋण पुस्तिका के नाम रिश्वत की मांग कर रहा था। एसीबी की टीम ने पटवारी नीलकमल सोनी के पास से रंग लगे नोट जब्त कर उसके खिलाफ धारा 7 (क), 12 भ्र०नि०अधिo 1988 के तहत मामला दर्ज किया। इसके बाद उसे न्यायालय में पेश किया गया। इधर पटवारी नीलकमल को सस्पेंड करते हुए उसका चार्ज कोहका पटवारी को सौंपा गया है।