कर्लीज रेस्त्रां को गिराने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, बुलडोजर लेकर पहुंचा था प्रशासन

 


 गोवा प्रशासन ने आज अंजुना बीच के पास बने कर्लीज रेस्त्रां को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया। इस रेस्त्रां में अवैध निर्माण की शिकायत मिली थी, जिसके बाद मामला राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (NGT तक पहुंच गया था। ट्रिब्यूनल ने कर्लीज रेस्टोरेंट के ध्वस्तीकरण पर रोक लगाने की याचिका को खारिज कर दिया था जिसके बाद प्रशासन की तरफ से एक्शन लिया गया। आपको बता दें कि इस रेस्त्रां का संबंध बीजेपी नेता सोनाली फोगाट की मौत से भी है। मौत से पहले सोनाली फोगाट यहीं पार्टी कर रही थीं और फिर कुछ पीने के बाद उनकी तबीयत खराब हो गई थी। पुलिस ने नशीले पदार्थों के मामले में रेस्त्रां के मालिक को गिरफ्तार भी किया था। अब प्रशासन ने भारी संख्या में पुलिस बल के साथ पहुंचकर रेस्त्रां को ही ध्वस्त कर दिया।

क्यों हुई कार्रवाई?

न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल की अध्यक्षता वाली एनजीटी की पीठ ने छह सितंबर को मामले की सुनवाई की थी। पीठ ने जीसीजेडएमए के आदेश को बरकरार रखा था।इसके बाद डिप्टी कलेक्टर गुरुदास एस टी देसाई ने नोटिस जारी किया था। फिर गुरुवार को जिला प्रशासन ने शुक्रवार को ये ढांचा गिराने की कार्रवाई को अंजाम दिया। अधिकारियों ने बताया कि इस रेस्त्रां पर सीआरजेड मानदंडों के उल्लंघन में 'नो डेवलपमेंट जोन' में निर्माण कार्य करने का आरोप है।

यहां की थी सोनाली ने पार्टी

गोवा के अंजुना समुद्र तट पर स्थित रेस्तरां, 'कर्लीज' हाल ही में चर्चा में आया, जब सोनाली फोगाट की मौत की जांच के सिलसिले में पुलिस यहां पहुंची। सोनाली फोगाट अपनी मौत से कुछ घंटे पहले यहां पार्टी करते हुए नजर आई थीं। इस मामले में दिन पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया, उनमें रेस्त्रां के मालिक एडविन नून्स भी शामिल थे। बाद में उन्हें जमानत दे दी गई थी।