स्वरुपानंद महाविद्यालय में स्थापित श्री गणेश जी की प्रतिमा का हर्षोउल्लास से विसर्जन


 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।।

स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको भिलाई में मां वीणापाणी मंदिर प्रांगण में स्थापित  भगवान श्री गणेश जी की प्रतिमा का आज विसर्जन कर दिया गया। यहां   दस दिवसीय गणेश उत्सव परंपरागत तरीके से हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।

महाविद्यालय प्रांगण इस दौरान दस दिनों तक गणपति बप्पा मौरेया के जयकारा से गुंजायमान रहा। महाविद्यालय में विद्यार्थियों द्वारा मिट्टी की प्रतिमा स्थापित की गई थी सजावट के लिए प्राकृतिक रंगों और मिट्टी के आभूषण, फूल, पौधों के बीज एवं अनाजों का प्रयोग किया गया। पूजन के बाद गमले में मूर्ति को विसर्जित किया गया जिससे नदी, तालाब प्रदूर्शित न हों व उस गमले की मिट्टी में स्मृति स्वरुप पौधा लगाया गया जिससे मिट्टी बर्बाद न हों।

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारणी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने विद्यार्थियों के प्रयास की सराहना करते हुये कहा प्लास्टर ऑफ पेरिस और रसायनिक रंगों में रंगी प्रतिमायें जल-जीवों और जल को प्रदूषित करते है। प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियां गलती नहीं है अतः महाविद्यालय परिसर में प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्ति के स्थान पर मिट्टी की प्रतिमा रखी गयी, यह एक अनुकरणीय पहल है।

महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ श्रीमती हंसा शुक्ला ने विद्यार्थियों से अपील की कि मिट्टी या फिटकरी की गणेश की प्रतिमा की स्थापना करें व मिट्टी की प्रतिमा को गमले में विसर्जित करें और उसमे एक पौधा अवश्य लगाये। फिटकरी की मूर्ति स्थापित किये तो उसे नदी या सरोवर में विसर्जित करें इससे पानी शुद्ध होगा।

गणेश जी को सिद्ध विनायक और विघ्नहर्ता कहा जाता है इस अवसर पर उपस्थित विद्यार्थियों ने गणेश जी की विधिपूर्वक पूजा अर्चना व हवन कर पहले महाविद्यालय के प्रांगण में हर्षउल्लास के साथ परिक्रमा कर उसे इस आशा से विसर्जित किये कि विध्नकर्ता पुनः अगले वर्ष विराजनमान होंगे।

गणेश उत्सव में महाविद्यालय के सभी विद्यार्थी व प्रध्यापकों ने हर्षपूर्वक शामिल हुए ।