ट्रालियों में कचड़ा भरकर सांसद कार्यालय पहुंचे हाउसिंग बोर्ड कालोनीवासी! बनी उहापोह की स्थिति

 


रायपुर. रायपुर सांसद सुनील सोनी के कार्यालय में उहापोह की स्थिति  बन गयी जब राजधानी रायपुर के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी सेजबहार फेस 01 के घरो से निकलने वाले कचड़ा को फेकने की जगह दिलाने की मांग करते हुए कॉलोनी के सैकड़ों रहवासी ट्रालियों में कचड़ा भरकर पहुंच गये।

श्रीमती प्रियंका गौतम पंच
ग्राम पंचायत सेजबहार, रायपुर ने बताया कि  मेरे कार्यक्षेत्र सेजबहार हाउसिंग बोर्ड कालोनी से निकलने
वाले कचड़े का निष्पादन करने की जगह नहीं है, जगह के लिये मैं एवं कालोनी में साफ सफाई की जिम्मेदारी उठाने वाली संस्था सेजबहार जन कल्याण समिति अपने स्तर पर हर संभावित प्रयास कर रहे हैं। उक्त समस्या के समाधान के लिये हम सभी ने मिलकर ग्राम पंचायत सेजबहार, डोमा, दतरेंगा, छ.ग. गृह निर्माण मण्डल के उच्च अधिकारियों, अध्यक्ष छ.ग. गृह निर्माण मण्डल, जिला पंचायत के मुख्य अधिकारी से पत्राचार किया गया है। लेकिन कहीं से समाधान नही निकला।




इसी समस्या के हल के लिये हमलोग 01/09/22 को हमारे क्षेत्रीय विधायक के सुपुत्र श्री पंकज शर्मा जी को लेकर हाउसिंग बोर्ड के अधिकारी श्री पूनमचंद अग्रवाल जी,
सरपंच प्रतिनिधि श्री मोनू साहू, उपसरपंच श्री रूपचंद्र टंडन, पूर्व ठेकेदार श्री राहुल ठाकुर, श्री सुनील ठाकुर, एवं अन्य के साथ बैठक हुई जिसमे यह तय किया गया कि गणेश पूजा के बाद संबंधित अधिकारियों के बातचीत करके हल निकालेंगे।
वहीं श्री राहुल ठाकुर एवं श्री सुनील ठाकुर बिना समस्या का कारण
बताये कालोनी के कुछ लोगों के साथ-साथ क्षेत्रीय प्रतिनिधियों को भी गुमराह कर मुझे, सेजबहार जन कल्याण समिति के पदाधिकारियों एवं हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों को आये दिन मानसिक प्रताड़ित किया जा रहा है।

 



उन्होंने कहा कि कचड़े का निष्पादन समस्या नही है निष्पादन के लिये जगह ना होना ही मुख्य समस्या है।
इस कारण आज आपके आदेशानुसार हाउसिंग बोर्ड के
कार्यपालन अभियंता के निर्देशानुसार आपके दिये गये समय पर समिति के द्वारा डंप कचड़े को उठवाकर सांसद कार्यालय लेकर आये हैं और सांसद महोदय ही बतायें की ये कचड़ा हम कहां फेकें।




किन्तु रायपुर सांसद कार्यालय में इन रहवासियों की सांसद से मुलाक़ात नहीं हो पायी और ना ही कोई सांसद की ओर से कोई जवाबदार प्रतिनिधि मिला। जब वार्ड 20 पंच के द्वारा फ़ोन पर कचड़ा उठाकर लाने और उचित जगह बताने की बात सांसद महोदय से की गयी  तो उनका जवाब था कि "कहीं भी फेंक दो"।

उस सम्बन्ध में सरपंच ने मुख्य मंत्री  श्री भूपेश बघेल जी, क्षेत्रीय विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा जी से भी पत्राचार किया है।