पाटन विकासखंड में कुपोषित बच्चों की होगी पहचान, चिन्हाकित बच्चों को सुपोषित बनाने तुरंत शुरू होगी कार्रवाई

 पाटन, दुर्ग।

असल बात न्यूज़।। 

पाटन विकासखंड में बच्चों को सुपोषित बनाने नई मुहिम शुरू हो रही है। इसमें कुपोषित बच्चों की पहचान की जाएगी और फिर उन्हें पुनर्वास केंद्र पाटन में तुरंत भर्ती कर उनके पोषण स्तर में सुधार लाने की कार्रवाई शुरू की जाएगी। यहां एसडीएम पाटन की अध्यक्षता में स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के विकासखंड स्तरीय बैठक आयोजित की गई जिसमें बच्चों को सुपोषित बनाने के कार्यक्रम की समीक्षा के बाद एसडीएम पाटन ने उक्त संबंध में निर्देश दिए हैं। उन्होंने विकासखंड के बच्चों को सुपोषित बनाने तुरंत अभियान शुरू करने को कहा है।

समीक्षा बैठक में एसडीएम पाटन  विपुल गुप्ता ने  समीक्षा बैठक में बच्चों के पोषण स्तर में सुधार, गंभीर कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन, चिन्हांकन पश्चात पोषण पुनर्वास केंद्र पाटन में त्वरित  भर्ती कर पोषण स्तर में सुधार हेतु कार्य करने निर्देशित किया है ।

एनीमिया मुक्त छत्तीसगढ़ ,एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम के तहत

 आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बच्चो एवं किशोरी बालिकाओं की हीमोग्लोबिन की जांच उपस्वास्थ्य केंद्रों के ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजकों के माध्यम से करवाएँगे, जिससे गंभीर एनीमिया वाले बच्चों को चिकित्सकीय परामर्श से त्वरित ईलाज किया जा सके। शिशु संरक्षण माह में विटामिन ए अनुपूरण, आयरन फोलिक एसिड का अनुपूरण हेतु शत प्रतिशत हितधारकों को लाभान्वित करने निर्देशित किया गया।महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा विगत माह  हुए वजन त्योहार एवं सितम्बर माह में पोषण माह में आँगनवाड़ी केंद्रों के बच्चो का चिन्हांकन कर कुपोषण के वर्ग अनुसार पोषण सलाह,चिकित्सकीय परामर्श, एनआरसी पाटन में भर्ती आदि करने निर्देशित किया गया।

अमलेश्वर एवं अमलेश्वरडीह में बच्चों की स्वास्थ्य जांच हेतु विशेष कैम्प लगाने निर्देशित किया गया। एस डी एम द्वारा निर्देशित किया गया कि चिरायु टीम  एवं मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक में चिकित्सकीय टीम द्वारा  कुपोशित बच्चो का त्वरित चिन्हांकन ,ईलाज आदि किया जाए। साथ ही अस्पताल में जन्म होते ही बच्चों को जाति प्रमाण पत्र बनाया का सकता है इसके लिए आवश्यक दिशानिर्देश भी दिए।

बैठक में बीएमओ पाटन डॉ आशीष शर्मा, परियोजना अधिकारी महिला बालविकास श्री सुमीत गंडेचा, श्रीमती सुनीता सिंह, बीपीएम पूनम साहू, बीईटीओ श्री बी एल वर्मा, चन्द्रकान्ता साहू, श्री सैयद असलम ,स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के समस्त सेक्टर सुपरवाइजर उपस्थित थे।