कन्याकुमारी से शुरू हुई कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा, भूपेश बोले- नफरत खत्म करेगा यह सफर

 


कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा कन्याकुमारी से शुरू हो गई। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को वरिष्ठ नेताओं ने तिरंगा सौंपा। इनमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शामिल थे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोशल मीडिया में लिखा- देश को अब आपसे ही आस है,देश को अब आप पर ही विश्वास है, तिरंगा की शक्ति, भारत मां का आशीष, जन जन का विश्वास, अब आपके पास है।

यात्रा में शामिल छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि समाज में जो नफरत फैलाने और आपसी दूरियाँ बढ़ाने की कोशिश हो रही है, उसे यह भारत जोड़ो यात्रा समाप्त करेगी। मुख्यमंत्री दिन भर हुए कार्यक्रमाें में राहुल गांधी के साथ नजर आए। पदयात्रा के पहले राहुल गांधी ने श्री पेरंबदूर में स्व. राजीव गांधी के स्मारक पर प्रार्थना सभा की। तिरूवल्लपुर मेमोरियल विवेकानंद मेमोरियल, कामराज मेमोरियल भी गये यहां छत्तीसगढ़ से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम भी शामिल रहे।

प्राथना सभा में भूपेश बघेल और राहुल गांधी।
प्राथना सभा में भूपेश बघेल और राहुल गांधी।

राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक 3500 कि.मी. तक की पदयात्रा शुरू हो गई। यह यात्रा 150 दिनों तक चलेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि देश के वर्तमान हालात में जब क्षेत्र धर्म सांप्रदायिकता के नाम पर देश की सत्ता में बैठे हुये लोग राजनीति कर रहे है वैसे में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा देश के लोगों के सामने एक नई उम्मीद लेकर सामने आई है। जब देश चलाने वाली दल सत्ताधीश और हुक्मरान आम आदमी की जरूरतों शिक्षा, रोजगार को परिदृश्य पीछे धकेल कर धार्मिक आधार पर धु्रवीकरण की राजनीति को बढ़ावा दे रहे हो तब उस समय कांग्रेस जैसी जन सरोकारी वाली पार्टी का यह नैतिक और राजनैतिक कर्तव्य हो जाता है कि वह देश को बचाने देश की एकता और अखंडता को बचाने के लिये भारत जोड़ो जैसा महाअभियान चलाये भारत जोड़ो यात्रा का यही उद्देश्य है।

मोहन मरकाम समेत बड़ी तादाद में नेता इस यात्रा में शामिल हुए।
मोहन मरकाम समेत बड़ी तादाद में नेता इस यात्रा में शामिल हुए।

देश की अखंडता के लिए कांग्रेस प्रतिबध्द
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा की देश की एकता, अखण्डता, संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए कॉंग्रेस प्रतिबद्ध है। जनाधिकार की लड़ाई लड़ने के लिए कांग्रेस पार्टी आजादी के पहले से ही सत्याग्रह को एक मजबूत हथियार मानती है और भारत जोड़ो पदयात्रा आजादी के बाद देश का सबसे विशाल और परिवर्तक सत्याग्रह साबित होगा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी सहित कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं ने देश में सत्याग्रह के द्वारा जनता के महत्वपूर्ण मसलों को हल किया है। यह सत्याग्रह उस विचारधारा को उखाड़ फेंकेगा जो मृत्यु के समय भी राम का नाम लेने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे को आदर्श मानता है।आज बर्बादी और वैमनस्यता की ओर बढ़ते देश को भारत जोड़ो पदयात्रा की जरूरत है।