दंतैल हाथी ने किया हमला : एक युवक की मौत, दूसरे की हालत गंभीर

 


धमतरी के अरौद डुबान क्षेत्र के सिलतरा में बुधवार देर रात एक दंतैल हाथी ने 2 लोगों को कुचल दिया, इसमें एक युवक की मौत हो गई, वहीं दूसरा गंभीर रूप से घायल है। घायल युवक को कांकेर जिले के नरहरपुर अस्पताल में भर्ती कराया है।

धमतरी रेंजर महादेव कन्नौजे ने बताया कि चना गांव निवासी प्रियेश नेताम (26 वर्ष) और संदीप कुंजाम (26 वर्ष) कबड्डी का मैच देखकर घर लौट रहे थे। रास्ते में उनका एक दंतैल हाथी से सामना हो गया। दोनों युवक जब तक कुछ समझ पाते, तब तक हाथी ने दोनों युवकों को उठाकर खेत में फेंक दिया। इसके बाद इनमें से एक युवक प्रियेश को पैरों से भी कुचल दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

युवक को हाथी ने कुचला।

वहीं दूसरा युवक संदीप कुंजाम रातभर खेत के किनारे पड़ा रहा। सुबह ग्रामीणों और वन विभाग की टीम ने नरहरपुर के सरकारी अस्पताल में उसे भर्ती कराया। वन विभाग ने सिलतरा सहित कलारबाहरा, उरपुट्‌टी, बरबांधा के लोगों को अलर्ट किया है।

दो दिन पहले गरियाबंद जिले के पांडुका में 3 हाथियों का दल पहुंचा था। तीनों हाथी रविवार को अपने झुंड से बिछड़कर पांडुका क्षेत्र के नेशनल हाईवे से ग्राम नांगझर, पचपेड़ी से होते हुए कुम्हरमरा और तोरेंगा पहुंचे थे। यहां हाथियों ने किसानों की फसल को रौंद दिया था और इसके बाद धमतरी की ओर निकल गए थे। वन विभाग ने हथबंद, जलकुंभी, राजाडेरा, पठार, राजापड़ाव के ग्रामीणों को जंगल की ओर नहीं जाने के लिए अलर्ट कर दिया है।

हाथियों का दल लगातार पहुंचा रहा फसलों को नुकसान।

15 सितंबर के आसपास भी हाथियों ने केरेगांव परिक्षेत्र के डोंगरीपारा, बागबुड़ा पारा, गेदरापारा, बरबांधा, बनबगौद, खड़ादाह, कुम्हड़ा समेत कई गांवों के किसानों की धान की फसल को नुकसान पहुंचाया था। मगरलोड ब्लॉक के हाथी प्रभावित ग्राम राजाडेरा, परसाबुड़ा, रेंगाडीह, हथबंध, जलकुंभी समेत अन्य गांवों के किसानों की फसल को भी दंतैल हाथियों ने जमकर नुकसान पहुंचाया था। अब प्रभावित किसानों ने इस क्षेत्र में फसल नुकसान के आकलन और सर्वे करने की मांग की है, ताकि उन्हें मुआवजा मिले।