गणपति विसर्जन की झांकियां, हजारों की भीड़ डीजे-धुमाल पर झूमती रही

 


छत्तीसगढ़ के रायपुर में सोमवार रात गणपति विसर्जन की झांकियां निकली तो भक्त झूम उठे। तीन साल बाद खत्म हुए इस इंतजार के बाद हजारों की भीड़ उमड़ी। पहले रविवार रात झांकी निकलनी थी, लेकिन मौसम को देखते हुए इसे एक दिन आगे बढ़ाया गया। इसके बावजूद बरसता पानी भी भक्तों का उत्साह कम नहीं कर सका।

राजधानी के हृदय स्थल जय स्तंभ चौक पर विहंगम नजारा उमड़ आया। शारदा चौक से रात 9 बजे झांकी निकलने का सिलसिला शुरू हुआ और रात होते-होते सड़कों पर उन्हें देखने हुजूम उमड़ पड़ा। रातभर बारिश के बीच झांकियां अपनी रूट पर आगे बढ़ती रही और लोग डीजे-धुमाल की धुन में थिरकते रहे। ज्यादातर झांकियां रामायण-महाभारत जैसी पौराणिक कथाओं पर आधारित रहीं।

गणेशोत्सव के समापन पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मी ही 3000 थे। खराब मौसम के बावजूद श्रद्धालुओं का हुजूम मालवीय रोड, पुरानी बस्ती से लाखे नगर होकर रायपुरा तक नजर आया। विसर्जन सुबह तक चला।

रायपुर के जय स्तंभ चौक पर गणपति विसर्जन के दौरान उमड़ा जन सैलाब।
रायपुर के जय स्तंभ चौक पर गणपति विसर्जन के दौरान उमड़ा जन सैलाब।
पुरानी बस्ती के अमीनपारा गणेशोत्सव समिति की ओर से रिद्धि-सिद्धि परिवार की झांकी निकली।
पुरानी बस्ती के अमीनपारा गणेशोत्सव समिति की ओर से रिद्धि-सिद्धि परिवार की झांकी निकली।
प्रभात टॉकीज की विनायक परिवार की झांकी को लोग देखते रह गए।
प्रभात टॉकीज की विनायक परिवार की झांकी को लोग देखते रह गए।
श्री बाल-गोपाल गणेशोत्सव समिति, मालवीय रोड की ओर से राम-रावण युद्ध की झांकी प्रदर्शित की गई।
श्री बाल-गोपाल गणेशोत्सव समिति, मालवीय रोड की ओर से राम-रावण युद्ध की झांकी प्रदर्शित की गई।
तीन साल बाद झांकियां निकलने के खत्म हुए इस इंतजार के बाद हजारों की भीड़ उमड़ी।
तीन साल बाद झांकियां निकलने के खत्म हुए इस इंतजार के बाद हजारों की भीड़ उमड़ी।
युवा शक्ति गणेशोत्सव समिति, हनुमान गुड़ी चौक की ओर से निकाली गई झांकी में लक्ष्मण के मूर्च्छित होने और हनुमान जी के संजीवनी पर्वत लाने को दिखाया गया।
युवा शक्ति गणेशोत्सव समिति, हनुमान गुड़ी चौक की ओर से निकाली गई झांकी में लक्ष्मण के मूर्च्छित होने और हनुमान जी के संजीवनी पर्वत लाने को दिखाया गया।
झांकियों में दिखाई गईं रामायण-महाभारत की कहानियां।
झांकियों में दिखाई गईं रामायण-महाभारत की कहानियां।
शारदा चौक से रात 9 बजे झांकी निकलने का सिलसिला शुरू हुआ और रात होते-होते सड़कों पर उन्हें देखने हुजूम उमड़ पड़ा।
शारदा चौक से रात 9 बजे झांकी निकलने का सिलसिला शुरू हुआ और रात होते-होते सड़कों पर उन्हें देखने हुजूम उमड़ पड़ा।
बंजारी चौक, गणेशोत्सव समिति कीओर से भगवान शिव परिवार की झांकी निकाली गई।
बंजारी चौक, गणेशोत्सव समिति कीओर से भगवान शिव परिवार की झांकी निकाली गई।
खराब मौसम के बावजूद श्रद्धालुओं का हुजूम मालवीय रोड, पुरानी बस्ती से लाखे नगर होकर रायपुरा तक नजर आया। विसर्जन सुबह तक चला।
खराब मौसम के बावजूद श्रद्धालुओं का हुजूम मालवीय रोड, पुरानी बस्ती से लाखे नगर होकर रायपुरा तक नजर आया। विसर्जन सुबह तक चला।