दवाओं के प्रतिकूल प्रभाव पर आप यहां कर सकते हैं रिपोर्टिंग,मोबाइल नम्बर 9411467960 तथा हेल्पलाइन नंबर 18001803024 पर फोन कर दे सकते हैं दवाओं के प्रतिकूल प्रभाव की जानकारी

 

*रायपुर मेडिकल कॉलेज में मनाया गया राष्ट्रीय फार्माकोविजिलेंस सप्ताह*

*कोई भी नागरिक, मेडिकल स्टॉफ, रोगी या उसका परिचारक कर सकता है  यहां  रिपोर्टिंग

 

रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।

 आमजनों तथा स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े लोगों को प्रतिकूल दवा प्रतिक्रियाओं (ADR – Adverse Drug Reaction) के सम्बन्ध में जागरूक करने आज रायपुर के पंडित जवाहरलाल नेहरु स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के फार्माकोलॉजी विभाग द्वारा राष्ट्रीय फार्माकोविजिलेंस सप्ताह मनाया गया। डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय के फिजियोथेरेपी हाल में आयोजित कार्यक्रम में विशेष तौर पर नर्सिंग स्टॉफ को दवाओं के प्रतिकूल प्रभावों की रिपोर्ट फौरन करने को लेकर जागरूक किया गया। मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. तृप्ति नागरिया तथा डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एस.बी.एस. नेताम ने एडवर्स ड्रग रिएक्शन की बेहतर रिपोर्टिंग करने के लिए मेडिसीन विभाग के डॉ. आर.एल. खरे और चर्म रोग के विभागाध्यक्ष डॉ. मृत्युंजय सिंह को सम्मानित किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए फार्माकोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. उषा जोशी ने कहा कि स्वास्थ्य सेवा प्रदाता जैसे डॉक्टर एवं नर्स हेल्थ केयर सिस्टम के प्रमुख अंग हैं। इन सबके बीच प्रतिकूल दवा प्रतिक्रियाओं (एडीआर) और इसकी रिपोर्टिंग के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए महाविद्यालय में राष्ट्रीय फार्माकोविजिलेंस सप्ताह मनाया जा रहा है। फार्माकोलॉजी विभाग की डॉ. मंजू अग्रवाल ने बताया कि इस वर्ष के फार्माकोविजिलेंस सप्ताह की थीम ”मरीजों द्वारा एडीआर रिपोर्टिंग को प्रोत्साहित करना“ है। इसका उद्देश्य आम जनता, रोगियों और उनके परिचारकों को प्रतिकूल दवा प्रतिक्रियाओं की पहचान कर इसकी जानकारी फार्माकोलॉजी विभाग को देने के लिए सक्रिय सहभागी बनाना है। मरीजों को जागरूक करने के लिए यह सप्ताह मनाया जा रहा है। 

डॉ. शिखा जायसवाल ने कार्यक्रम में बताया कि लोग दवाओं और टीकों के कारण ज्ञात या अज्ञात, गंभीर या गैर-गंभीर प्रतिक्रियाओं की रिपोर्ट कभी भी कर सकते हैं। इसके साथ ही मरीज कोविड-19 की दवाओं के कारण हुए विभिन्न प्रतिक्रियाओं की रिपोर्ट कर सकते हैं। ऐसे कई उदाहरण हैं जिनमें रोगियों और स्वास्थ्य पेशेवरों द्वारा उल्लेखनीय दुष्प्रभावों की सूचना के बाद बाजार से दवाएं वापस ले ली गईं।

फार्माकोलॉजी विभाग की प्रीति सिंह ने बताया कि एडीआर की रिपोर्टिंग के लिए हेल्थ केयर सिस्टम में शामिल डॉक्टर, फार्मासिस्ट, नर्स व स्वयं मरीज तथा मरीज की देखरेख कर रहे व्यक्ति को पूरा ध्यान देने की जरूरत है। फार्माकोविजिलेंस प्रोग्राम ऑफ इंडिया के अंतर्गत एडीआर की रिपोर्टिंग के लिए पंडित जवाहरलाल नेहरु स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर के फार्माकोलॉजी विभाग में मोबाइल नम्बर 9411467960 तथा राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर 18001803024 पर जानकारी दी जा सकती है। 


असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............


असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता