सियान जतन क्लिनिक योजना: 9 हजार से ज्यादा बुजुर्गों को मिला स्वास्थ्य लाभ

 


महासमुंद

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग एवं आयुष विभाग द्वारा

छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग एवं आयुष विभाग द्वारा अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं और कार्यक्रम संचालित की जा रही हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार आम जनों को बेहतर स्वास्थ्य का लाभ प्रदान करने के लिए अभिनव प्रयास किए जा रहे हैं। जिला मुख्यालय महासमुंद के शासकीय यूनानी औषधालय में सियान जतन क्लिनिक का आयोजन प्रत्येक माह के प्रथम गुरुवार तथा अन्य गुरुवार को विशेष ओपीडी का संचालन किया जाता है। राज्य शासन ने बुजुर्गों का ख्याल रखने और उन्हें अच्छी स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए सियान जतन क्लिनिक योजना की शुरुआत की गई है।
शासकीय यूनानी औषाधालय के चिकित्सा अधिकारी डॉ. अश्फाक अहमद ने बताया कि महासमुंद ज़िले के 36 आयुर्वेदिक औषधालय व हेल्थ सेंटर में सियान जतन क्लिनिक की शुरूआत मई 2021 से हुई है, जहाँ अब तक 60 वर्ष से अधिक उम्र के 9189 नागरिकों को निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार का फायदा मिला है। प्रकृति से जुड़कर लोगों को स्वस्थ रहने के तौर-तरीके बताने का काम आयुष चिकित्सकों के द्वारा किया जा रहा है। इसके अंतर्गत दवा से लेकर अन्य सभी विधियां प्राकृतिक मापदंड से संबंधित हैं। इसके अच्छे परिणाम लोगों को प्राप्त हो रहे हैं।
महासमुंद विकासखण्ड के ग्राम बिरकोनी के 68 वर्षीय श्री नारायण लाल साहू ने बताया कि उन्हें लगभग दो माह से मांसपेशियों में जकड़न हो रही थी जिसके कारण वे बहुत परेशान रहते थे। औषधालय में आकर चिकित्सकों को इस परेशानी के बारे में बताया। तो चिकित्सकों ने उन्हें निःशुल्क दवाईयां, उपचार नियमित व्यायाम एवं जीवन शैली केे तरीके में सुधार करने के बारे में बताया। जिसको अपनाकर अब वे पूरी तरह से ठीक हो चुके है।
इसी तरह ईमली भाठा महासमुंद के 62 वर्षीय श्री गोकुल राम सोनवानी ने बताया कि उनके दोनों हाथों में 10 दिन पूर्व लकवा के लक्षण हो गए थे। जिससे उनके हाथों का मूवमेंट ठीक से नहीं हो पा रहा था। यहां आने पर चिकित्सकों ने निःशुल्क उपचार एवं दवाई देकर तथा व्यायाम करने के तरीके से अवगत कराया। जिससे अब उनके दोनों हाथों में मूवमेंट होने लगा है। शंकर नगर वार्ड क्रमांक 01 के निवासी श्री रामकुमार ने बताया कि वे चर्म रोग से पीड़ित थे। यहां आने पर चिकित्सकों ने उनका स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाईयां दी। जिससे अब उनका चर्म रोग पूरी तरह से ठीक हो गया है।
जानकारी अनुसार 60 वर्ष से अधिक आयु के मरीजों का निःशुल्क पंजीयन, सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण, प्रकृति परीक्षण व चिकित्सा की गई। जाँच शिविरों में स्मृति हृास, अर्श रोग, कम सुनाई पड़ना, नेत्ररोग, जोड़ों का दर्द, लकवा, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और शारीरिक दुर्बलता इत्यादि शामिल है। चिकित्सालय के सियान जतन क्लिनिक में लाभार्थियों को पेय मिश्रेय पानक, दशमूल काढ़ा, गुडुच्यादि काढ़ा, रसायन औषधि आदि प्रदान किया जाता है। इसके अलावा लोगों को एक ही स्थान पर आयुर्वेद और एलोपैथी के विशेषज्ञों का परामर्श उपलब्ध होता है। उन्होंने बताया कि सियान जतन क्लिनिक में इलाज के लिए आए बुजुर्गों का विस्तृत विवरण भी रखा जा रहा है। यही नहीं, भविष्य में जरूरत पड़ने पर इन मरीजों का फॉलोअप भी किया जाएगा। नागरिकों का स्वास्थ्य बेहतर रहे और उन्हें किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना ना करना पड़े, इसके लिए कई स्तर पर काम हो रहा है। जिसकी जिम्मेदारी आयुष विभाग को दी गई है।