बंद हैं दिग्गजों के फोन, अणुव्रत मंडल की गिरफ्तारी से सकते में बीरभूम के TMC नेता

 


 मवेशी तस्करी मामले में बीरभूम के तृणमूल कांग्रेस जिला अध्यक्ष अणुव्रत मंडल की गिरफ्तारी के बाद से जिले के तृणमूल नेता, कार्यकर्ता और समर्थक सकते में हैं. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की कार्रवाई के बाद से जिले के ज्यादातर तृणमूल नेताओं के फोन बंद आ रहे हैं. अगर किसी का फोन ऑन है, तो वह रिसीव नहीं कर रहे.

तृणमूल खेमे में छायी उदासी

बीरभूम के दबंग तृणमूल नेता अणुव्रत उर्फ केस्टो की गिरफ्तारी के बाद बीरभूम में घास-फूल शिविर में उदासी छा गयी है. शुक्रवार सुबह तृणमूल नेताओं ने चुप्पी तोड़ी. कुछ ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर उंगली उठायी. कहा कि बीजेपी की साजिश के चलते तृणमूल के हरदिल अजीज जिलाध्यक्ष गिरफ्तार हुए हैं.

प्रखंड कार्यालय से लौट गये नेता

रामपुरहाट प्रखंड उत्सव में सुबह से पार्टी के जिला अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष आशीष बंद्योपाध्याय मौजूद रहे. उनके साथ मेयर सौमेन भकत भी थे. वहां से उन्हें रामपुरहाट के पांच माथा मोड़ आना था. दोनों प्रखंड कार्यालय से लौट गये. दिन भर बार-बार फोन करने पर भी आशीष बनर्जी उपलब्ध नहीं थे.

दो वकील के साथ आसनसोल गये मलय

केस्टो दा की गिरफ्तारी के तुरंत बाद दुबराजपुर के दो वकील मलय बाबू के साथ आसनसोल के लिए रवाना हो गये थे. जिला परिषद के सह-संरक्षक धीरेंद्र बंद्योपाध्याय ने कहा कि जब लोग खतरे में पड़ते थे, तो केस्टो दा खड़े होने वाले पहले व्यक्ति रहते थे. वह आज मुसीबत में हैं.