आज रात से छत्तीसगढ़ में फिर शुरू हो सकती है भारी बारिश

 नई दिल्ली, छत्तीसगढ़।

असल बात न्यूज़।।  

         00  मौसम रिपोर्ट 

मानसून के चालू सीजन में इस साल छत्तीसगढ़ राज्य में अब तक भारी बारिश हुई है। उत्तरी, पूर्वी, दक्षिणी और मध्य क्षेत्र सभी इलाकों में जमकर बारिश हुई है। तो वही आज देर रात से राज्य के विभिन्न इलाकों में फिर भारी बारिश शुरू हो सकती है। बंगाल की खाड़ी में सक्रिय कम दबाव के क्षेत्र के छत्तीसगढ़ पहुंचने की  वजह से यह बारिश होने जा रही है। मध्य क्षेत्र तथा उत्तरी क्षेत्र में इसका अधिक प्रभाव नजर आ सकता है। बारिश के साथ ही इस दौरान 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चल सकती हैं।

छत्तीसगढ़ में पिछले तीन दिनों से मौसम साफ है और धूप निकल रही है इसके बाद लगातार बारिश से परेशान लोगों ने राहत की सांस ली है। इसके पहले कई दिनों तक लगातार बारिश से नदी नाले उफान पर आ गए हैं और कई क्षेत्रों का पानी भर जाने से संपर्क कट गया है। एक-दो दिन और बारिश होती तो राज्य को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता था। भारी बारिश से नदियों और बांधों में लबालब पानी भर गया है जिससे बांधों से पानी छोड़ने की नौबत आ गई। उल्लेखनीय है कि राज्य में बांधों का पानी छोड़ने की वजह से महानदी, शिवनाथ नदी, इंद्रावती नदी सहित कई प्रमुख नदियों मैं जलस्तर काफी पड़ गया है। इस दौरान सिर्फ शिवनाध नदी में कुल 1लाख 2200 cusec पानी छोडा गया है। 

 इसके चलते नदियों का जल स्तर काफी ऊंचा हो गया है और समीपवर्ती  गांवो में पानी भरने लगा था। मौसम खुलने, साफ होने के बाद इस स्थिति में काफी सुधार हुआ है। 

छत्तीसगढ़ में भारी बारिश की स्थिति लगातार बनती दिख रही है। बंगाल की खाड़ी में पिछले तीन दिनों से कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है और वहां से चक्रवात उठ खड़ा हुआ है जो कि पश्चिम बंगाल, उड़ीसा के रास्ते होते हुए छत्तीसगढ़,मध्य पदेश की ओर बढ़ रहा है। इसके आज देर रात तक छत्तीसगढ़ में प्रवेश हो जाने की संभावना है। जानकारी के अनुसार चक्रवात के चलते कम दबाव क्षेत्र बन जाने से पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है तथा जगह-जगह बारिश शुरू हो गई है। अभी इसका असर बालासोर और सागर आइसलैंड तक दिख रहा है। छत्तीसगढ़ तक भी इसके पहुंच जाने के संकेत दिखने लगे हैं और देर रात से इसकी यहां सक्रियता तेज हो सकती है।

हम आपको यह भी बता दें कि तीन दिन पहले तक छत्तीसगढ़ में जो चक्रवात को सक्रिय था जिससे हम लगातार कई दिनों तक भारी बारिश हुई है वह मध्य प्रदेश से होते हुए महाराष्ट्र, गुजरात के रास्ते पाकिस्तान पहुंच गया है और पाकिस्तान में उसके प्रभाव से अभी जमकर बारिश हो रही है।

राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक एक जून 2022 से अब तक राज्य में 904.8 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 18 अगस्त तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बीजापुर जिले में सर्वाधिक 1906.8 मिमी और सरगुजा में जिले में सबसे कम 362.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 526.8 मिमी, बलरामपुर में 476.6 मिमी, जशपुर में 535.2 मिमी, कोरिया में 542.0 मिमी, रायपुर में 690.1 मिमी, बलौदाबाजार में 909.4 मिमी, गरियाबंद में 971.7 मिमी, महासमुंद में 936.8 मिमी, धमतरी में 976.7 मिमी, बिलासपुर में 1029.2 मिमी, मुंगेली में 970.0 मिमी, रायगढ़ में 870.3 मिमी, जांजगीर-चांपा में 1062.6 मिमी, कोरबा में 809.5 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 775.7 मिमी, दुर्ग में 797.4 मिमी, कबीरधाम में 875.6 मिमी, राजनांदगांव में 949.2 मिमी, बालोद में 1028.1 मिमी, बेमेतरा में 565.0 मिमी, बस्तर में 1291.5 मिमी, कोण्डागांव में 1049.7 मिमी, कांकेर में 1178.2 मिमी, नारायणपुर में 1075.6 मिमी, दंतेवाड़ा में 1303.6 मिमी और सुकमा में 867.8 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।


असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता