स्वरूपानंद महाविद्यालय में वृक्षों को रक्षा सूत्र बांध कर पौधों की सुरक्षा का संकल्प

 भिलाई ।

असल बात न्यूज़।।

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय भिलाई के यूथ रेडक्रॉस इकाई ने वृक्षों को रक्षा सूत्र बांधकर पर्यावरण की रक्षा करने का संकल्प लिया। यूथ रेडकॉस प्रभारी श्रीमति ऊषा साहू एवं डॉ. पूनम शुक्ला ने कहा कि ‘‘एक वृक्ष सौ पुत्रों के समान होता है’’ पेड़ों की रक्षा करने व पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से वृक्षों में रक्षा सूत्र बांधने का अभियान चलाया गया इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्य, प्राध्यापकों एवं विद्यार्थियों द्वारा वृक्षों को रक्षा सूत्र बांधकर पेड़ों की सुरक्षा का संकल्प लिया।

महाविद्यालय के सीओओ डॉ दीपक शर्मा ने कहा वृक्षों की रक्षा वास्तव में जीवन रक्षा के समान है, वृक्ष हमें प्राण वायु देते हैं तथा हमारे जीवन का आधार है।

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा यदि हम प्रदूषण से होने वाले नुकसान से अपने आप को बचाना चाहते है तो अधिक से अधिक संख्या में पौधरोपण कर उनके संवर्धन एवं सुरक्षा के कार्य करने होंगे।

डॉ अज़रा हुसैन, उपप्राचार्य ने कहा अत्यंत खुशी का विषय है कि वृक्षों को रक्षा सूत्र बांधा जा रहा है वास्तव में रक्षा सुत्र का उद्देश्य हम वृक्षों की रक्षा पूरी निष्ठा के साथ करेंगे।

बीएड तृतीय सेमेस्टर की विद्यार्थी कामिनी वर्मा ने इस अवसर पर कहा इस वर्षा ऋतु में हम सब मिलकर कम से कम पांच-पांच पौधे का रोपण अवश्य करें साथ ही इसकी सुरक्षा का संकल्प लें। अंशु एक्का ने अधिक से अधिक पौधारोपण कर उनकी सुरक्षा एवं संवर्धन का संकल्प लेकर अपने पर्यावरण को सुरक्षित रखने की अपील की। 

एनसीसी के विद्यार्थी विशाल कन्नौजे बीकॉम अंतिम वर्ष ने वृक्षों को रक्षा सूत्र बांधकर अपने आसपास पांच पौधा लगाने का संकल्प लिया तथा अविराज मिश्रा ने वृक्ष पर रक्षा सूत्र बांधकर कहा कि वृक्षों को बचाए बिना सुनहरे भविष्य की कल्पना करना मुश्किल है तथा साहिल पाहुजा ने आंवला वृक्ष पर रक्षा सूत्र बांधकर कहा पेड़ों की कटाई को रोकना होगा तभी भविष्य में अच्छी बारिश और स्वच्छ पर्यावरण की उम्मीद कर सकते हैं। 

इस अवसर पर एनसीसी कैडेट एवं एनएसएस स्वयंसेवक के विधार्थी विशाल कनौजे, राकेश साहू, अभिराज मिश्रा, नीतीश कुमार साहू, साहिल पाहुजा, समर्थ देशमुख, हर्ष दास, वैष्णव, विनायक साहू, देवदत्त महानंद एवं हार्दिक उपस्थिति रहकर महत्वपूर्ण योगदान दिये।

महाविद्यालय की प्राचार्य, समस्त प्राध्यापकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित होकर रुद्राक्ष, आम, अमरूद, आंवला, कदंब, नीम के वृक्ष को रक्षा सूत्र बांधते हुए यह संदेश देने की कोशिश की कि वृक्ष हमारे परिवार और समाज का अभिन्न हिस्सा है यह वातावरण को शुद्ध रखता है, यह हमारी सांसो को बरकरार रखता है इसलिए वृक्ष की रक्षा करना हमारा प्रमुख दायित्व है।