माता पिता ने अपनी बेटी की हत्या

 


सरगुजा: सरगुजा में बेहद हृदयविदारक अपराध देखे जा रहे हैं. हत्या की वजह कभी दुश्मनी हुआ करती थी. लेकिन आज कल सरगुजा में लोग उसी की हत्या कर दे रहे हैं. जिससे वो प्रेम करते थे. अपने रिश्तों का लहू भी बहाने से लोग नहीं चूक रहे हैं. हाल ही में एक माता पिता ने अपनी बेटी की हत्या की थी. पुलिस खुलासे में बेटी का हत्यारा पिता निकला है.

दरिमा थाना क्षेत्र के खाला निवासी विश्वनाथ एक्का साकिन ने 3 जुलाई को दरिमा थाने के रिपोर्ट दर्ज कराया. उसकी लड़की न्यासा एक्का 29 जून से कहीं चली गई है. प्रार्थी की रिपोर्ट पर गुम इंसान कायम कर पता तलाश किया जा रहा था. इसके बाद 26 अगस्त को खुद आरोपी थाने में आकर सूचना दिया. मेरी लड़की ने न्यासा एक्का का शव लिबरा जंगल में पड़ा है. शव सड़ गल कर कंकाल बन गया है. मैं अपनी लड़की को पहने कपड़ा चप्पल के आधार पर पहचाना हूं.

 प्रार्थी की रिपोर्ट पर पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना में लिया गया. वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर नगर पुलिस अधीक्षक अखिलेश कौशिक के नेतृत्व मे टीम गठित कर घटना की जांच थाना प्रभारी दरिमा प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक डॉ प्रशांत देवांगन और पुलिस टीम द्वारा मामले की जांच की जा रही थी. जांच विवेचना में डॉक्टर द्वारा पोस्टमार्टम के दौरान हत्या, हत्यात्मक प्रकृति का होना लेख किया गया था.

शार्ट पीएम के आधार पर सभी पहलुओं की गहनता से जांच की गई. संदेह होने पर मृतिका के पिता से पूछताछ करने पर मृतिका के पिता विश्वनाथ एक्का ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. उसने बताया कि मेरी लड़की न्यासा एक्का बिना बताए घर से भाग गई थी. माता-पिता की बात नहीं मानती थी. इससे विश्वनाथ एक्का नाराज था. 28 जून को खाना नहीं बनाने और बैल को चारा नहीं देने से अत्यधिक नाराज होकर लड़की को झापड़, मुक्के और डंडे से मारा. जिससे लड़की दरवाजे के पास गिर गई और पत्थर से टकरा जाने से लड़की की मौत हो गई.

आरोपी ने पुलिस को बताया कि रात में लड़की को अपनी पत्नी दिलसो एक्का के साथ मिलकर उसे ठेकाना लगाया. लिबरा जंगल ले जाकर मृतिका को नीचे लेटा कर पेड़ के ठुठ में लड़की के चुनरी को बांधकर दिए. शव को जंगल में छिपाकर दोनो वापस घर आ गए. आरोपी माता-पिता द्वारा अत्यधिक गुस्से में आकर अपनी लड़की की हत्या करना स्वीकार किया गया. फिलहाल आरोपी माता पिता को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है.