सड़क हादसों में हुई मौत के बाद लोगों का आक्रोश

 


कुम्हारी. छत्‍तीसगढ़ के जिले में दो स्थानों पर हुए सड़क हादसों में हुई मौत के बाद लोगों का आक्रोश देखने को मिला। कुम्हारी में स्कूल जा रही एक छात्रा को मिक्सर मशीन ने अपनी चपेट में ले लिया। जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। घटना के बाद आसपास के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने नेशनल हाईवे पर ही बैठकर प्रदर्शन शुरू कर दिया।

लोगों ने प्रभावित परिवार को 35 लाख रुपये मुआवजा देने की और नौ घंटे मांग पर अड़े रहे। प्रदर्शन के चलते नौ घंटे से भी ज्यादा समय तक नेशनल हाईवे जाम रहा। नेशनल हाईवे से गुजरने वाली गाड़ियों को रायपुर और दुर्ग-राजनांदगांव बाइपास पर रोका गया है। प्रदर्शन से भड़की पुलिस देर रात पहुंची ग्राम उरला में उन लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया जो घंटों फोरलेन पर चक्का जाम कर बैठे हुए थे।

वहीं पाटन के ग्राम लोहरसी से तर्रा रोड पर बुधवार की रात को एक शासकीय वाहन की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई। घटना के दूसरे दिन ग्रामीण शव लेकर पाटन थाना पहुंचे और आरोपित चालक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर थाना के सामने ही शव रखकर प्रदर्शन किया। वहीं रात पौने नौ बजे लोंगों का आवागमन शुरू हो गया।

जानकारी के मुताबिक कुम्हारी थाना क्षेत्र में रायल खालसा ढाबा के सामने गुरुवार की दोपहर में 11ः30 बजे घटना हुई। बीएमवाय उरला गांव निवासी महेंद्र साहू की 14 वर्षीय बेटी खुशी साहू जंजगिरी के शासकीय स्कूल में कक्षा नवमीं की छात्रा थी। गुरुवार को वो अपनी सहेली सलोनी के साथ स्कूल जा रही थी। दोनों छात्राएं साइकिल से रायल खालसा ढाबा के सामने बने नेशनल हाईवे के कट को पार कर रही थी।

इसी दौरान तेज रफ्तार मिक्सर मशीन ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में खुशी साहू की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की खबर लगते ही उरला के लोग बड़ी संख्या में वहां पहुंचे और नेशनल हाइवे पर बैठकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। लोगों को जानकारी हुई कि जिस मिक्सर मशीन से ये घटना हुई, वो फ्लाई ओवर निर्माण में संलग्न है।

इस कारण से लोगों ने फ्लाई ओवर निर्माता ठेका कंपनी के अधिकारियों को बुलाने की मांग शुरू कर दी। ठेका कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंचे। लेकिन, उन्होंने मुआवजा देने से इन्कार कर दिया और न्यायालयीन प्रक्रिया के तहत मामले के निराकरण की बात कही। कोई समाधान न निकलने पर चक्काजाम जारी रहा और नौ घंटे से भी ज्यादा समय तक नेशनल हाईवे पर गाड़ियों की आवाजाही बंद रही।

लोगों से चर्चा करने के लिए एसपी डा. अभिषेक पल्लव, एएसपी संजय ध्रुव, ट्रैफिक एएसपी विश्वास चंद्राकर, छावनी सीएसपी कौशलेंद्र देव पटेल, भिलाई नगर सीएसपी नसर सिद्दीकी, ट्रैफिक डीएसपी गुरजीत सिंह, कुम्हारी थाना प्रभारी पीडी चंद्रा, पुरानी भिलाई थाना प्रभारी मनीष शर्मा, खुर्सीपार थाना प्रभारी त्रिनाथ त्रिपाठी, छावनी थाना प्रभारी विशाल सोन और जामुल थाना प्रभारी याकूब मेमन दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे थे।