छत्तीसगढ़ में पिछले 16 घंटों के भीतर 180 मि.मी. औसत वर्षा, अभी और होगी बारिश, राज्य में हर जगह नदी नाले उफान पर, कई क्षेत्र मुख्य मार्ग से से कटे, सामान्य जन जीवन अस्त-व्यस्त

 

कहीं भी सूखे की आशंका पूरी तरह से निर्मूल


रायपुर, दुर्ग बिलासपुर।।


असल बात न्यूज़।। 

         00  मौसम रिपोर्ट

पिछले 2 दिनों से राज्य के लगभग सभी स्थानो पर लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है तो वही हर जगह नदी नाले उफान पर आ गए हैं। कई जगह नदियों के तट से  ऊपर बहने की खबर आ रही है। अभी बारिश और होती रहेगी। उड़ीसा के समुद्री तटीय क्षेत्र और बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है जिससे कई इलाकों में भारी बारिश लगातार हो सकती है। ताजा आंकड़ों के अनुसार पिछले 16 घंटों के भीतर राज्य में 180 मिलीमीटर बारिश हो गई है। ऐसे में किसी भी तहसील के सूखाग्रस्त रहने की कहीं आशंका नहीं रह गई है बल्कि अति वर्षा से फसल को नुकसान पहुंचने की आशंका जारी की जाने लगी है। बताया जा रहा है कि इस साल वर्ष 1994 के दौरान जैसी बारिश हुई थी वैसी ही भारी बारिश हो रही है। नदियों के उफान पर आ जाने से कई इलाकों के बाढ़ आने की भी आशंका जाहिर की जा रही है।

अच्छी बारिश होने से किसानों के चेहरे पर मुस्कान दिख रही है। इस साल पवित्र माह सावन के शुरुआत से ही मानसून के अच्छी बारिश हो रही है तथा सूखे की आशंका खत्म हो गई। सावन के अंतिम दिनों में भारी बारिश शुरू हो गई है। अब यह बारिश लोगों के लिए आफत भी बन सकती है। निचले इलाकों के कई गांव का काफी पहले से मुख्य मार्गो से संपर्क कट गया है।

पिछले दो दिनों के दौरान छत्तीसगढ़ राज्य में जिन स्थानों पर भारी से भारी बारिश हुई है उसमें भैरमगढ़ बिजापुर में सबसे अधिक 16 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है। इसके साथ बकावंड बस्तर तथा कटेकल्याण दंतेवाड़ा में 10-10 सेंटीमीटर, आरंग में 9 सेंटीमीटर, दरभा बस्तर, पखांजूर कांकेर, माना रायपुर और धमतरी में आठ आठ सेंटीमीटर, गुरुर बालोद, मगरलोड धमतरी, नगरी बीजापुर और बस्तानार बस्तर में 7-7 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक एक जून 2022 से अब तक राज्य में 675.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज नौ अगस्त तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बीजापुर जिले में सर्वाधिक 1731.5 मिमी और सरगुजा में जिले में सबसे कम 273.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।
राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 371.6 मिमी, बलरामपुर में 311.9 मिमी, जशपुर में 356.0 मिमी, कोरिया में 386.8 मिमी, रायपुर में 459.2 मिमी, बलौदाबाजार में 598.1 मिमी, गरियाबंद में 756.6 मिमी, महासमुंद में 619.3 मिमी, धमतरी में 775.6 मिमी, बिलासपुर में 672.3 मिमी, मुंगेली में 682.3 मिमी, रायगढ़ में 586.4 मिमी, जांजगीर-चांपा में 743.0 मिमी, कोरबा में 492.2 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 596.8 मिमी, दुर्ग में 603.2 मिमी, कबीरधाम में 629.5 मिमी, राजनांदगांव में 690.2 मिमी, बालोद में 795.1 मिमी, बेमेतरा में 417.0 मिमी, बस्तर में 1052.7 मिमी, कोण्डागांव में 783.9 मिमी, कांकेर में 888.2 मिमी, नारायणपुर में 788.7 मिमी, दंतेवाड़ा में 1082.1 मिमी और सुकमा में 761.4 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।