बिहार में फिर जहरीली शराब से 4 की मौत, बढ़ सकता है आंकड़ा; मौके पर पहुंंचे अफसर

 


बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है, लेकिन जहरीली शराब से मौतों की घटनाएं थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं। राज्य में शराब बनाना, बेचना, रखना, पीना और पिलाना सब गैरकानूनी है। फिर भी जहरीली शराब पीकर मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। अब सारण में एक बार फिर जहरीली शराब पीने से मौत की घटना हुई है। ताजा घटना में जिले के मढ़ौरा थाना अंतर्गत भुआलपुर में जहरीली शराब पीने से 4 लोगो की मौत की खबर मिल रही है। मढ़ौरा के भुआलपुर में यह घटना हुई है। पुलिस गांव में पहुंच चुकी है और छानबीन में जुट गई है।

भुआलपुर मढ़ौरा विधायक जितेंद्र राय का पैतृक गांव है। घटना स्थल पर पुलिस के साथ जिला प्रशासन के पदाधिकारी भी पहुंच चुके हैं। शराब पीने को लेकर गांव में चुप्पी है। लेकिन, कुछ लोग भीड़ से हटकर बता रहे हैं कि सबने शराब पिया था। 

पुलिस ने मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए छपरा भेज दिया है और मामले की जांच में जुटी हुई है।
मरने वालों की संख्या अभी बढ़ सकती है क्योंकि और लोगों के भी शराब पीने की सूचना मिल रही है।
बताया जा रहा है कि बदनामी के डर से कई लोग छिप कर इलाज करा रहे हैं। इस बीच पुलिस इलाके में
कैंप कर रही है। ग्रामीणों से अपील की गई है कि किसी ने शराब पिया है तो जानकारी दे ताकि समय से
इलाज करवाकर जान बचाई जा सके।

सारण में शराब पीकर मौत से इस महीने यह दूसरी घटना है। बीते 3 से 5 अगस्त के बीच  जिले के मकेर और भेल्दी में जहरीली शराब पीने से 13 लोगों की मौत हो गई थी। एक भोज में शराब पीने से 30 से ज्यादा
लोग बीमार हुए थे जिनमें 15 लोगों की आंख की रौशनी प्रभावित हो गई। इस घटना में मकेर के थानेदार
को निलंबित कर दिया गया था। इसी दौरान वैशाली के सहदेई और महुआ में भी शराब पीने से 3 की मौत हो
गई थी।