वर्षा में आई निगम को पानी टंकी और संपवेल सफाई की याद

 


दुर्ग. बारिश के मौसम में पीलिया सहित अन्य जलजनित बीमारी फैलने का खतरा बना रहता है। इसे ध्यान में रखते हुए दुर्ग निगम प्रशासन द्वारा हर साल बारिश के पहले निगम के पानी टंकियों और संपवेल की सफाई कराई जाती है लेकिन इस बार बारिश शुरू होने के बाद निगम को टंकियों व संपवेल सफाई की याद आई।

दुर्ग नगर निगम द्वारा शहर के 15 पानी टंकियों और पांच संपवेल की सफाई कराई जा रही है। इसके लिए निगम प्रशासन द्वारा टेंडर जारी किया गया था। टेंडर लेने और वर्क आर्डर मिलने के बाद भी ठेकेदार ने समय पर काम शुरू नहीं किया। भिलाई निगम के खुर्सीपार क्षेत्र में पीलिया फैल गया है। इसे ध्यान में रखते हुए दुर्ग निगम प्रशासन ने पानी टंकियों की सफाई शुरू कर दी है। पानी टंकियों में गाद और मलमा जमा होता है इस कारण इसकी सफाई कराई जाती है। मंगलवार को दुर्ग के 24 एमएलडी फिल्टर प्लांट स्थित संपवेल की सफाई का काम शुरू किया गया। संपवेल सफाई की वजह शहर के करीब डेढ़ दर्जन वार्र्डों में मंगलवार द्वितीय पाली में शाम के समय पानी सप्लाई नहीं हुई। जिन वार्र्डों में पानी सप्लाई नहीं हुई उसमें मरार पारा, ठेठवार पारा, गिरधारी नगर, शहीद भगत सिंग उत्तर,शहीद भगत सिंग दक्षिण, तितुरडीह, शक्ति नगर, जवाहर नगर,शंकर नगर,आमापारा,तकिया पारा, मोहन नगर, केलाबाड़ी, कसारीडीह, आदर्श नगर, फोकटपारा,पद्मनाभपुर पूर्व एवं पदमनाभपुर पश्चिम वार्ड शामिल हैं। निगम के जलगृह विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन वार्र्डों में बुधवार सुबह पानी सप्लाई सामान्य हो जाएगी।

प्रभारी जलगृह विभाग ननि दुर्ग संजय कोहले ने कहा टंकियों की सफाई बारिश से पहले होनी थी लेकिन ठेकेदार ने काम समय पर शुरू नहीं किया। इस वजह से टंकियों व संपवेल की सफाई समय पर नहीं हो पाई।