उदयपुर में कर्फ्यू में चार घंटे की ढील, घरों से बाहर निकले लोग, हर जगह भारी पुलिसबल की तैनाती की

 


 उदयपुर. उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या के बाद 28 जून शाम से जारी कर्फ्यू में शनिवार को चार घंटे की ढील दी गई है। शहर में सभी जगह पुलिस फोर्स तैनात है और जिंदगी पटरी पर आना शुरू हुई है। लोग अपनी जरूरत की चीजें खरीद रहे हैं। सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों में भी लोग अपना काम निपटाने के लिए गए हैं। लोगों का गुस्सा भी कुछ शांत हुआ है। लोगों ने अपना कामकाज शुरू किया है। दुकानें व बाजार भी खुल गए हैं।

शाम चार बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई है। हालांकि इंटरनेट सेवा बंद रहेगी।  शुक्रवार को भगवान जगन्नाथ यात्रा के शांतिपूर्वक निकल जाने के बाद प्रशासन ने रात 11:30 बजे कर्फ्यू में ढील का निर्णय किया था। सबकुछ ठीक रहा तो रविवार को कर्फ्यू में ढील का समय और बढ़ाया जाएगा। बहरहाल उदयपुर में हुई कन्हैयालाल की हत्या का पूरा मामला अब जयपुर शिफ्ट हो गया है, जहां आज एनआईए की न्यायिक मजिस्ट्रेट अदालत में अभियुक्तों को पेश किया जाना है।

इस वजह से दी गई ढील

कर्फ्यू में ढील देने का कारण शुक्रवार एक जुलाई को शांतिपूर्ण निकली रथ यात्रा है। जिले की बिगड़ी कानून व्यवस्था को संभालने के लिए आए आईपीएस दिनेश एमएन ने भी कहा था कि कर्फ्यू में ढील दी जाएगी। जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा ने आदेश जारी कर दोपहर 12 से शाम चार बजे तक कर्फ्यू में ढील का आदेस दिया है। आदेश के बाद पिछले चार दिनों से घर के अंदर बंद लोग बाहर निकले। उन्होंने दुकानों और बाजार से जरूरत का सामान खरीदा।