इस बार सावन सोमवार, भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए आजमाएं ये उपाय

  


हिंदू मान्यता के मुताबिक सावन का महीना भगवान शिव को काफी प्रिय होता है और चूंकि सोमवार का दिन भी भगवान शिव की आराधना के लिए शुभ माना जाता है, इस कारण से सावन मास में सोमवार का महत्व बढ़ जाता है। इस साल सावन का महीना 14 जुलाई से शुरू होने वाला है और पूरे सावन माह में 4 सावन सोमवार आएंगे।

जानें किस-किस तारीख को है सावन सोमवार

सावन मास का पहला सोमवार 18 जुलाई को होगा, वहीं 7 विशिष्ट योग भी बन रहे हैं। इनमें 3 बार रवि योग बनेगा। इसके अलावा शेष 4 योग अलग-अलग दिनों में बनाए जाएंगे। सावन के पहले सोमवार 18 जुलाई को शोभन और रवियोग होगा। सावन मास का दूसरा सोमवार 25 जुलाई को होगा। सोम प्रदोष के कारण दूसरे सोमवार का विशेष महत्व है। उस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग बनेगा। वहीं सावन मास का तीसरा सोमवार 1 अगस्त को प्रजापति और रवि योग बनेगा। इसके बाद सावन मास का आखिरी सोमवार 8 अगस्त को होगा और इसी दिन पुत्रदा एकादशी व्रत भी होगा।

सावन के आखिरी सोमवार को भी पद्म व रवि योग

हिंदू ज्योतिष के मुताबिक एकादशी तिथि भगवान विष्णु को प्रिय है। इस दिन पद्म और रवि योग बन रहे हैं। सावन माह में भगवान शिव की पूजा का काफी महत्व है और इस मास के सभी सोमवारों, त्रयोदशी और चतुर्दशी तिथि को व्रत रखकर पूजा करनी चाहिए। रुद्राभिषेक से सभी सुख प्राप्त होते हैं। शिव की आराधना करने से अकाल मृत्यु का भय हमेशा के लिए खत्म हो जाता है।

सावन माह में आएंगे ये प्रमुख व्रत व त्योहार

- 25 जुलाई 2022 को प्रदोष व्रत

- 26 जुलाई 2022 को मास शिवरात्रि,

- 28 जुलाई 2022 को हरियाली अमावस्या

- 31 जुलाई 2022 को हरियाली तीज

- 2 अगस्त 2022 को नागपंचमी

- 12 अगस्त 2022 को रक्षाबंधन।

सावन में भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के उपाय

संतान सुख की प्राप्ति के लिए महादेव के दूध से अभिषेक करना चाहिए। इसके अलावा गंगाजल से भी अभिषेक किया जा सकता है। अच्छा जीवनसाथी पाने के लिए श्रावण मास के हर सोमवार को व्रत करना चाहिए। स्वास्थ्य, सुख और रोगों से मुक्ति के लिए श्री महामृत्युंजय मंत्र का जाप सावन मास में रोज करना चाहिए। आर्थिक उन्नति के लिए शिव स्तोत्र का पाठ करना चाहिए और गन्ने के रस से अभिषेक करने से जल्द लाभ होता है।