पूर्व विधायक भजन सिंह निरंकारी का निधन, मुख्यमंत्री सहित तमाम नेताओं कार्यकर्ताओं ने अर्पित की श्रद्धांजलि

भिलाई,दुर्ग। असल बात न्यूज।। छत्तीसगढ़ के पूर्व विधायक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भजन सिंह निरंकारी का निधन हो गया है। उनके के आकस्मिक निधन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय बघेल, पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय सहित तमाम वरिष्ठ नेताओ ने शोक व्यक्त किया है तथा मृतआत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पूर्व विधायक श्री भजन सिंह निरंकारी के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से मृत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिजनों को दुःख की इस घड़ी को सहने की क्षमता प्रदान करने की प्रार्थना की है। उल्लेखनीय है कि खास तौर पर छत्तीसगढ़ के विकास में श्री निरंकारी जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। वे तत्कालीन विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण भिलाई दुर्ग के अध्यक्ष रहे थे। इस दौरान उन्होंने क्षेत्र के विकास के लिए जो योजना बनाई जो काम किया, उसे आज भी याद किया जाता है। उन्होंने दुर्ग जिले में कांग्रेस पार्टी को मजबूत बनाने के लिए भी उल्खनीय काम किया है । वे वैशाली नगर विधानसभा सीट से विधायक निर्वाचित हुए थे। हालांकि वे पिछले लंबे समय से अस्वस्थ थे लेकिन इसके पहले उनकी राजनीति में सक्रियता लगातार बनी हुई थी। मुझे भी अपने समाचार पत्र हेतु विधानसभा सत्र की कार्यवाही के coverage के लिए सदन पहुंचना होता था तो इस दौरान उनके आग्रह पर हम कई बार साथ साथ उनके वाहन से विधानसभा गए। उनकी राजनीतिक सक्रियता इस समय भी ऐसी थी कि वे सुबह 8:30 बजे तैयार हो जाते थे और 11:00 बजे के पहले विधानसभा तक पहुंच जाते थे। कई बार जब हमारा साथ में जाना तय होता था तो मुझे डर लगता था कि कहीं मैं ही लेट ना हो जाऊं।वे समय के अत्यंत पाबंद थे तथा हर समय निर्धारित समय पर तैयार हो जाया करते थे। वे अविभाजित मध्यप्रदेश में छत्तीसगढ़ राज्य लघु उद्योग विकास निगम के अध्यक्ष भी थे। साडा भिलाई दुर्ग का अध्यक्ष रहने के दौरान उन्होंने इस क्षेत्र में झुग्गी बस्तियों के उन्मूलन तथा वहां मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में महत्वपूर्ण काम किया। वह निरंकारी संत समागम से भी जुड़े हुए थे और उनके नेतृत्व में इस संस्था के ढेर सारे कार्यक्रम छत्तीसगढ़ में आयोजित किए गए। अभी उनके सुपुत्र संदीप निरंकारी नगर निगम भिलाई में पार्षद हैं तथा उन्हें मेयर इन काउंसिल में भी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है। श्री निरंकारी जी की एक खासियत यह भी थी कि राजनीतिक नेता के रूप में कार्य करने के दौरान उनके खास तौर पर मीडिया के लोगों से काफी मधुर संबंध थे।