दुर्ग जिले में दो कोरोना पॉजिटिव की आज मृत्यु

 दुर्ग ।

असल बात न्यूज़।। 

        00  अशोक कुमार

चिंतन/विश्लेषण,जिंदगी बचाने के लिए


वैसे तो हम किसी भी न्यूज़ को 'breaking news' लिखने से बचते रहे हैं और यह हमारे लिए breaking news अथवा सनसनीखेज समाचार तो कतई नहीं हैं वरन चिंता पैदा कर देने के जैसे हालात बन गए दिख रहे है कि कहीं,कोरोना के घातक संक्रमण के फैलाव से हालत फिर से बिगड़ने की ओर तो नहीं बढ़ने लगे हैं।दुर्ग जिले में दो कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की आज मृत्यु हो गई।इस जिले में अभी छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना के सबसे अधिक संक्रमित मिल रहे हैं। यहां पॉजिटिविटी रेट 9% के आसपास पहुंच गई है। जिस तरह से यहां कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है उस से लोगों की चिंताएं भी बढ़ती जा रही हैं।आज मृत्यु की खबर से लोगों की चिंता और बढ़ती दिख रही है। शासन प्रशासन के द्वारा कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के साथ तमाम उपाय किए जा रहे हैं। लेकिन यह भी वास्तविकता है कि कोरोना के संग्रहण का फैलाव थम नहीं रहा है बल्कि लगातार बढ़ता जा रहा है। Corona के संक्रमण के फैलाव, वायरस को एक से दूसरे तक पहुंचने से रोकने में, नियंत्रित करने में असफल साबित हो रहे हैं। यहां मृत्यु के मामले में जो तथ्य सामने आए है वह भी काफी गंभीर है कि संक्रमण की चपेट में आने के बाद दो दिन में संक्रमितों की मौत हो गई। मतलब, यहां कोरोना का अधिक घातक वायरस फैल रहा हो सकता है।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना से 2 लोगों की मृत्यु हुई है। मृतक में से एक ही उम्र 90 वर्ष और दूसरे की उम्र 60 वर्ष बताई जा रही है। प्रगति नगर रिसाली भिलाई जिला दुर्ग निवासी 90 वर्षीय पीड़ित को 20 जुलाई को मुख्य चिकित्सालय अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसे हिचकी तथा चक्कर आने की शिकायत थी। उसी दिन उसकी कोरोना जांच कराई गई तो उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने की जानकारी मिली है। इलाज के दौरान आज उसकी की मृत्यु हो गई। वह पूर्व से हृदय रोग से भी पीड़ित बताया जाता है। 

दूसरे मृतक के बारे में मिली जानकारी के अनुसार वह पुराना भिलाई 3 जिला दुर्ग का निवासी है। उसकी उम्र लगभग 60 वर्ष है।उसे सिर दर्द, सांस लेने में तकलीफ तथा चक्कर आने की वजह से दो दिन पहले स्थानीय अमित मेमोरियल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। कोरोना की जांच कराए जाने पर उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। यहां मरीज भी पूर्व से उच्च रक्तचाप से ग्रसित बताया जाता है। 

यह जो मामले  सामने आए हैं उससे स्पष्ट दिख रहा है कि ब्लड प्रेशर तथा शुगर के मरीजों के लिए corona अभी भी जानलेवा साबित हो रहा है। ऐसे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार वैक्सीनेशन के बावजूद कोरोना के संक्रमण से बचना जरूरी है। कोरोना के खतरे से बचने के लिए सबसे पहले यही जरूरी है कि आप कोरोना से संक्रमित  होने से बच सके। जो कोरोना की गाइडलाइन बार-बार जारी की जा रही है  उसका पालन करके कोरोना के संक्रमण से बचा जा सकता है। Corona को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन को भी बहुत कुछ करने की जरूरत है। राज्यों को होम आइसोलेशन के मामलों पर प्रभावी ढंग और सख्ती से निगरानी करने को कहा गया है है ताकि किसी संक्रमित से उसके पास पड़ोस, समुदाय, गांव, मोहल्ला, वार्ड आदि में संक्रमण फैल ना सके। इसके लिए संक्रमित को आपस में मिलने देने  और  घूमने पर रोक लगाना जरूरी है। ऐसा देखा गया लिए पर्याप्त उपाय नहीं होने की वजह से एक संक्रमित से कई लोगों को संक्रमण फैलता जाता रहा है। वैसे अभी हालात ऐसे हैं कि किसी की भी मास्क पहनने में दिलचस्पी नहीं है। दूरी बनाए रखना तो दूर की बात है।

ताजा गंभीर मामले में जिन दो लोगों की मृत्यु हो गई है वे कहां से संक्रमित हुए ? इसकी काफी गंभीरता से पड़ताल की जानी चाहिए तथा इस तथ्य को सार्वजनिक भी किया जाना चाहिए। यह देखा जा रहा है कि संक्रमण कहां से और कैसे फेल रहा है उस तथ्य को छिपाने की कोशिश की जाती है। इसमें इस बात को समझना चाहिए कि संक्रमण कहां से फैल रहा है लोगों को पता चलेगा तो लोग उससे दूरी बना कर अपना बचाव करने की भी कोशिश करेंगे। लेकिन शायद ही कभी इस बात को शायद ही कभी महत्व दिया गया।



असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता