दुर्ग संभाग के सभी पांचों जिले में तेजी से फैल रहा है कोरोना, राज्य में आज मिले 385 से संक्रमित, दुर्ग जिले में 53

 रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर।

असल बात न्यूज़।। 

राज्य में आज भी कोरोना के काफी अधिक संक्रमित मिले हैं। पिछले 24 घंटों के भीतर कुल 365 संक्रमित पाए गए। वहीं दुर्ग संभाग के सभी पांचों जिलों मे कोरोना के नए संक्रमित काफी अधिक मिल रहे हैं। रायपुर जिले के बाद आज भी दुर्ग जिले में सबसे अधिक संक्रमित मिले हैं। राज्य में कोरोना के कुल एक्टिव केसेस की संख्या बढ़कर 1675 हो गई है। राज्य में कोरोना का पॉजिटिविटी  रेट भी अब बढ़कर 3.5% हो गया है।

राज्य में आज 24 जिलों में 365 संक्रमित मिले हैं। दुर्ग संभाग के अंतर्गत आने वाले दुर्ग जिले में 53 राजनांदगांव में 38 बालोद जिले में 18 मैचों में 26 और कबीरधाम जिले में 3 संक्रमित मिले हैं। सबसे अधिक संक्रमित रायपुर जिले में 69 जिले हैं। इसके बाद कोरोना के एक्टिव केसेस की संख्या दुर्ग जिले में बढ़कर 365, राजनांदगांव जिले में 164 और बेमेतरा जिले में 116 हो गई है। 

वैसे दुर्ग जिले में जिला प्रशासन के द्वारा कोविड से बचाव के लिए व्यापक सतर्कता बरती जा रही है। यहां  वैक्सीनेशन, टेस्टिंग को भी बढ़ाया जा रहा है।कोविड के मामलों के बढ़ने की आशंका को ध्यान में रखते हुए पूरे सिस्टम का हर समय अलर्ट मोड पर रहने का निर्देश दिया गया है। जिले के कलेक्टर  पुष्पेंद्र मीणा ने स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक ली है और उन्होंने इलाज के इंफ्रास्ट्रक्चर के बारे में विस्तार से जानकारी ली। साथ ही यह भी कहा कि यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि  सारे इंस्ट्रूमेंट प्रभावी स्थिति में हों। एक निगरानी दल बनाकर इसका सर्टिफिकेट अगले दो-तीन में प्रस्तुत करने को भी कहा गया है।  हेल्थ सेंटर में टेस्टिंग पर विशेष रूप से फोकस किये जाने की जरूरत है। जिन मामलों में कोविड ट्रेस किया गया है उनके प्राइमरी कांटैक्ट पर भी नजर रखने के प्रबंध किए जा रहे हैं।  बैठक में सीएमएचओ डॉ. जेपी मेश्राम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

*जिन हाटबाजारों में 60 से कम मरीज-* कलेक्टर ने पिछले तीन महीने का हाट बाजारों का डाटा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से मांगा। उन्होंने कहा कि स्टेट में देखें तो प्रति हाटबाजार 60 मरीज आते हैं। जिन हाटबाजारों में मरीज कम आये हैं। उनके संबंध में विशेष रूप से रिव्यू करना होगा कि यहां मरीजों की संख्या कम क्यों है और इसे बढ़ाने के लिए क्या किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक रूप से ही रोगों को डिटेक्ट करने और घर के बिल्कुल नजदीक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ देने का शासन का यह बेहतरीन जरिया है। इस पर काम करें।

जिला कलेक्टर ने कहा है कि हेल्थ कार्ड को लेकर अच्छा काम दुर्ग जिले में हुआ है। फिर भी शासन की यह सबसे अच्छी सुविधाओं में से एक है। इससे कोई भी वंचित न रह जाए, इस पर काम करना है। ग्रामीण स्तर पर मितानिन और सचिव यह देखें कि इसका लक्ष्य पूरा हो जाए और सभी हितग्राहियों का कार्ड बन जाए। उन्होंने अगले दो सप्ताह इसके लिए विशेष रूप से कार्य करने निर्देश दिये। कलेक्टर ने संस्थागत प्रसव सहित हेल्थ से जुड़े सभी पक्षों की विस्तार से समीक्षा भी की।



असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता